जूडोका : रियो ओलंपिक में भारत के एकमात्र खिलाड़ी अवतार सिंह हारकर हुए बाहर

Subscribe to Oneindia Hindi

रियो डि जनेरियो। ब्राज़ील के रियो डी जनेरियो शहर में चल रहे ओलंपिक खेलों में 6 दिन बाद भी भारत को अपने पहले पदक का इंतज़ार है। बुधवार को हुए जूडो में पुरुषों के 90 किलो्ग्राम भार वर्ग के इलिमेनेशन राउंड आॅफ 32 में भारत की एकमात्र उम्मीद अवतार सिंह ने निराश किया। यह भारतीय दावेदार रिफ़्यूजी ओलंपिक टीम से खेल रहे पोपोल मिसेंगा से 1-0 स्कोर से हार गए।

रियो ओलंपिक : यह सेल्फी बनेगी इस महिला एथ​लीट के लिए सजा-ए-मौत की वजह, जानिए क्यों

जूडोका

अवतार सिंह की शुरुआत ही अच्छी नहीं हुई। मैच की शुरुआत में नियमों के उल्लंघन के चलते उन्हें दो बार एक-एक अंक की पेनल्टी शीडो लगी। पहली बार पेनल्टी मुकाबले 1 मिनट 39 सेकंड बाद तो वहीं दूसरी पेनल्टी तीन मिनट 21 सेकंड के बाद लगी।

छोटी ड्रेस पर अश्लील कॉमेंट करने वालों को बीबीसी की महिला प्रेजेंटर ने ऐसे दिया करारा जवाब

इस मुकाबले के अंतिम चरण में पोपोल ने अवतार को पटखनी दे दी। इसके साथ ही उन्होंने एक अन्य प्रतिद्वंदी सीओई नागे से भी एक अंक हासिल कर लिया। इसी के साथ मुकाबला उनके नाम होगा। अवतार सिंह के परास्त होने के साथ ही रियो ओलंपिक के जूडो में भारत की चुनौती ख़त्म हो गई है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Rio Olympics : Judoka Avtar Singh lost in the first round match and crashed out of the tournament. Avtar was taking on Popole Misenga of the Refugee Olympics Team and lost in the first round 2-1 to exit his first Olympics. The opponent won the match by the move yuko. This was the first win for a member of the Refugee Team in any sport.
Please Wait while comments are loading...