सहवाग ने क्यों कहा- दो लाइन का CV भेजने की जरूरत नहीं, मेरा नाम ही काफी?

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

पूर्व भारतीय विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कोच बनने के लिए 2 लाइन का रिज्यूमे भेजने की रिपोर्ट को सिरे से खारिज कर दिया है। सहवाग ने कहा कि इस तरह की बातों में कोई सच्चाई नहीं है। उन्होंने कहा कि "अगर मैं दो लाइन का सीवी ही भेजता तो सीधे मैं अपना नाम ही लिख देता। इसके लिए तो मेरा नाम ही काफी है।"

मेरा नाम ही काफी, दो लाइन का सीवी भेजने की जरूरत नहींः सहवाग

दरअसल भारतीय क्रिकेट टीम का कोच बनने के लिए 2 लाइन का रेज्‍युमे भेजने की रिपोर्ट को पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने सिरे से खारिज कर दिया है। सहवाग ने कहा कि उन्होंने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के नियमों के मुताबिक ही अपना सीवी भेजा था।

UCWeb को दिए इंटरव्यू में सहवाग ने कहा, "उस दो लाइन के सीवी को देखना चाहूंगा। अगर मुझे दो लाइन का ही रेज्‍युमे भेजना होता तो मेरा नाम ही काफी था।" इंटरव्यू में सहवाग ने बताया कि सौरव गांगुली उनकी नजरों में सबसे बेहतर भारतीय कप्तान रहे हैं।

आपको बता दें कि भारतीय टीम के मुख्य कोच अनिल कुंबले का कार्यकाल समाप्त होने से पहले बीसीसीआई ने कोच के लिए आवेदिन मंगाए थे। जिसमें वीरेंद्र सहवाग ने भारतीय क्रिकेट टीम का कोच बनने के लिए आवेदन किया है। इसके बाद खबरें आई थी कि उन्होंने सिर्फ दो लाइन का रेज्‍युमे भेजा है।

यह भी कहा गया कि सहवाग ने अपने एप्लिकेशन ने लिखा, "इंडियन प्रीमियर लीग में किंग्‍स इलेवन पंजाब का कोच और मेंटर हूं तथा इन सभी (भारतीय) खिलाड़‍ियों के साथ खेल चुका हूं।"

 

 

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Virender Sehwag says My name was enough if I had to send two-line CV
Please Wait while comments are loading...