FACT: महिला ODI क्रिकेट में भारत आज तक पाकिस्तान से नहीं हारा है एक भी मैच

By: Gautam Sachdev
Subscribe to Oneindia Hindi

डर्बी। हाल में समाप्त हुए चैंपियंस ट्रॉफी में जो काम विराट और उनकी यंग ब्रिगेड नहीं कर सकी, इंग्लैंड में खेले जा रहे विश्वकप के एक अहम मुकाबले में वो काम देश की नौनिहाल बेटियों ने कर दिखाया। क्रिकेट में चिर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान की पुरुष टीम से मुकाबला हो या महिला टीम से रोमांच अपने चरम पर होता है।कुछ ऐसा ही माहौल था नॉटिंघम के डर्बी क्रिकेट मैदान पर भी, महिला विश्वकप के अहम मुकाबले में भारत की बेटियों ने एक बार फिर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिया और 170 रनों के आसान लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाक टीम को महज 74 रनों पर समेट कर एक नया इतिहास रच दिया। कप्तान मिताली राज ने नॉटिंघम में विराट कोहली वाली गलती नहीं की। उन्होंने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया, बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत खराब रही और पहला विकेट महज 7 रनों के स्कोर पर गिर गया तो ऐसा लगा जैसे चैंपियंस ट्रॉफी का फाइनल न हो जाए लेकिन मध्यम क्रम ने टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया।महिला विश्व कप में पाकिस्तान को हराकर टीम इंडिया ने लगातार तीसरी जीत दर्ज की। मैच से पहले भी क्रिकेट पंडित टीम इंडिया को फर्म फेवरेट मान रहे थे और टीम ने विश्व कप में एक और जीत दर्ज कर अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखा।

महिला ODI क्रिकेट के इतिहास में भारतीय टीम ने पाकिस्तान से आज तक एक भी मैच नहीं हारा है। अब तक भारत और पाकिस्तान के बीच पिछले 12 सालों में हुए सभी 10 एकदिवसीय मैचों में टीम इंडिया ने आसान जीत दर्ज की है। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया को पहला बड़ा झटका तब लगा जब तूफानी बल्लेबाज स्मृति मंधाना महज 2 रन बनाकर आउट हो गई। उन्होंने पिछले दो मैचों में (इंग्लैंड के खिलाफ 72 गेंदों में 90 रन और इंग्लैंड खिलाफ 108 गेंदों में 106* रनों की पारी) टीम इंडिया की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। 20 वर्षीय मंधाना की शतकीय पारी के बाद सचिन, सहवाग, लक्ष्मण, रैना जैसे सरीखे खिलाड़ी और अमिताभ जैसे क्रिकेट प्रशंसक भी उनके दीवाने हो गए थे और सोशल मीडिया पर उनकी खूब प्रशंसा की लेकिन वो आज के मुकाबले में कुछ खास नहीं कर पाईं।

12 सालों में मिली है सिर्फ जीत

12 सालों में मिली है सिर्फ जीत

चैंपियंस ट्रॉफी में पुरुष टीम भले ही फाइनल में पाकिस्तान से हार गई हो लेकिन महिलाओं ने तो उनका भी रिकॉर्ड तोड़ दिया और अपनी टीम के लिए पिछले 12 सालों में 10 वीं जीत दर्ज कर इतिहास के स्वर्णिम अक्षरों में अपना नाम दर्ज कर दिया। एक झलक उन आसान जीत की कहानियों पर। 30 दिसंबर 2005 को खेले गए मुकाबले में टीम इंडिया ने 193 रनों से जीत दर्ज की, 2 जनवरी 2006 को खेले गए मुकाबले में 10 विकेट से जीत दर्ज की, 13 दिसंबर 2006 को खेले गए मुकाबले में 80 रनों से जीत दर्ज की, 19 दिसंबर 2006 को खेले गए मुकाबले में 103 रनों से आसान जीत हासिल किया। 5 मई 2008 को खेले गए मैच में 182 रनों से जीत मिली, 9 मई 2008 को 107 रनों से जीत मिली,7 मई 2009 को 10 विकेट से जीत मिली, 7 फरवरी 2013 को 6 विकेट से जीत मिली, 19 फरवरी 2017 को 7 विकेट से जीत मिली और रविवार को खेले गए मुकाबले में 110 रनों से जीत हासिल की। टीम इंडिया ने पाक के खिलाफ अपने सभी दस मुकाबलों में जीत दर्ज की है।

एकता बिष्ट का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

एकता बिष्ट का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत खराब रही लेकिन पूनम राउत की 47, दीप्ति शर्मा के 28 और मध्यक्रम के फ्लॉप होने के बाद सुषमा वर्मा ने 35 गेंदों में 33 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेल अपनी टीम को एक फाइटिंग स्कोर तक पहुंचाया और एकता बिष्ट ने अपनी फिरकी में पाकिस्तानी बल्लेबाजों को फंसा लिया और अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी करते हुए पांच विकेट झटके और टीम को जीत दिलाई। पाकिस्तान की सना मीर (29) और नाहिदा खान (23) मात्र दो ऐसी बल्लेबाज थी जिन्होंने दहाई का आंकड़ा छुआ अन्यथा बांकी कोई भी बल्लेबाज टीम इंडिया की फिरकी गेंदबाजी के आगे नहीं टिक पाया।

मिताली ने नहीं की विराट वाली 'गलती'

मिताली ने नहीं की विराट वाली 'गलती'

महिला वर्ल्ड कप मे रविवार को हुए भारत-पाक महामुकाबले में चिर-परिचित प्रतिद्वंदी के खिलाफ भारतीय कप्तान मिताली राज ने पुरुष टीम के कप्तान विराट कोहली की तरह गलती नहीं की। मिताली राज ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया जो उनकी टीम के हक में गया और उन्हें जीत भी मिली।भारतीय महिला टीम ने इसी मैदान पर मेजबान इंग्लैंड को 35 रन से हरा दिया था चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल में टॉस जीतने के बाद विराट कोहली ने पहले बल्लेबाजी के बजाए गेंदबाजी का फैसला लिया था। कोहली का यह फैसला भारतीय टीम के लिए गलत साबित हुआ था और पाकिस्तान ने जीत के साथ चैंपियंस ट्रॉफी पर कब्जा कर लिया था।

एकता की फिरकी पर नाचे पाकिस्तानी

18 रन देकर 5 विकेट झटकने वाली एकता बिष्ट को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच का खिताब दिया गया। यह उनका दूसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था इससे पहले भी उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ महज 8 रन देकर 5 सफलताएं अर्जित की थी। एकता ने इस मैच में अपने 10 ओवर में दो मेडन ओवर फेंकते हुए यह कारनामा किया।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
ICC Women's World Cup 2017 : Team India creates history by winning 10th match against pakistan in a row.
Please Wait while comments are loading...