जानिए किसकी हुई हिम्मत, जिसने तेंदुलकर का साढ़े तीन साल तक किया पीछा?

Subscribe to Oneindia Hindi

मुंबई। चौंक गए ना, आखिर किसकी आई है शामत, जिसने सचिन का पीछा करने की जुर्रत की, तो सुनिए सचिन का पीछा किसी व्यक्ति विशेष ने नहीं किया बल्कि कैमरे ने किया है।

खुला राज: आखिर किसने की थी 'सचिन-सचिन' कहने की शुरुआत?

जी हां, सचिन की लाइफ पर बनी बॉयोपिक फिल्म 'सचिन ए बिलियन ड्रीम्स' बनाने वाली टीम ने पिछले साढ़े तीन साल तक तेंदुलकर को कैमरे में कैद किया है।

 जेम्स अर्स्किन ने अपने कैमरे में कैद किया

जेम्स अर्स्किन ने अपने कैमरे में कैद किया

सचिन अपने पूरे 24 घंटे में क्या करते है, किससे मिलते हैं और कैसे रहते हैं, इन सबको जेम्स अर्स्किन ने अपने कैमरे में कैद किया, क्योंकि वो 'सचिन ए बिलियन ड्रीम्स' के डायरेक्टर हैं।

10 हजार घंटे के वीडियो फुटेज

10 हजार घंटे के वीडियो फुटेज

यही नहीं फिल्म के निर्माण के दौरान सचिन से जुड़े 10 हजार घंटे के वीडियो फुटेज खोजे गए, जिससे फिल्म को यथार्थ का जामा पहनाया जा सके।

अर्जुन तेंदुलकर

अर्जुन तेंदुलकर

ऐसा इसलिए हुआ कि फिल्म में सचिन ने एक्टिंग नहीं की है, बल्कि उनसे जुड़े दृश्यों को पर्दे पर दिखाया गया है, हां फिल्म में सचिन के बेटे अर्जुन तेंदुलकर जरूर आपको अभिनय करते नजर आएंगे।

वो हमारे रियल हीरो

वो हमारे रियल हीरो

इस फिल्म को बनाने वाले जेम्स अर्स्किन ने बताया कि वो भी क्रिकेट खेलते थे, उन्होंने 'अली' फिल्म देखने के बाद सोचा कि सचिन पर फिल्म बननी चाहिए, वो हमारे रियल हीरो हैं, इसलिए उनकी कहानी हर किसी को जाननी चाहिए, ये फिल्म 26 मई को रिलीज हो रही है।

क्रिकेट खेलने से ज्यादा मुश्किल कैमरा फेस करना

क्रिकेट खेलने से ज्यादा मुश्किल कैमरा फेस करना

गॉड ऑफ इंडियन क्रिकेट और शतकवीर सचिन तेंदुलकर को भी लगता है कि एक्टिंग करना काफी मुश्किल भरा काम है। इस फिल्म के बारे इंटरव्यू देते समय सचिन ने कहा कि क्रिकेट खेलने से ज्यादा मुश्किल मेरे लिए कैमरा फेस करना था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Sachin: A Billion Dreams' Makers Watched 10,000 Hours of Archived Footage For the Film.
Please Wait while comments are loading...