बड़ी बात: हर खास मैच से पहले धोनी कराते थे काशी विश्वनाथ में विशेष पूजा

Subscribe to Oneindia Hindi

वाराणसी। देश के लिए क्रिकेट वर्ल्ड कप से लेकर हर महत्व पूर्व मैच के लिए माही यानि महेन्द्र सिंह धोनी वाराणसी के श्री काशी विश्वनाथ मन्दिर में विशेष अनुष्ठान कराते थे और इस पूजन का प्रसाद भी धोनी के घर तक पहुंचता था, ये हम नहीं बल्कि श्री काशी विश्वनाथ मंदिर के प्रधान अर्चक पंडित श्रीकान्त मिश्रा कह रहे हैं।

महेन्द्र सिंह धोनी ने छोड़ी कप्तानी, आखिर क्यों है ये एक ब्रेकिंग न्यूज?

पंडित मिश्र ने वनइंडिया को बताया उन्होंने धोनी जैसी व्यक्तित्व वाला इंसान आज तक नहीं देखा, एक दम सरल और सहज जैसे वो मैदान में दिखते थे, वैसे ही इंसानों का दिल जितने का उनका एक अलग ही अंंदाज हैं। पंडित मिश्र ने धोनी के बारे में काफी कुछ बताया, जिन्हें आप भी जानिए और उनकी नजरों से समझिए क्रिकेट के महान खिलाड़ी धोनी को।

धोनी जी जैसा इंसान नहीं देखा

धोनी जी जैसा इंसान नहीं देखा

  • सवाल - माही से आप मिले हैं कैसा लगा?
  • जवाब - मैं तीन से चार बार मिला हूं, धोनी जी जैसा इंसान मैंने आज तक नहीं देखा।
  • सवाल - कैसा व्यक्तित्व है धोनी का?
  • जवाब - वो अपने सभी पुराने साथियों और जानने वालो का काफी ख्याल रखते हैं और जहांं तक व्यक्तित्व की बात की जाए तो लगता ही नहीं की वो इतने बड़े खिलाड़ी हैं।

गोपनीय तरीके से इंसान की मदद करते हैं

गोपनीय तरीके से इंसान की मदद करते हैं

  • सवाल - क्या लगता है की वो जरूरतमंदों की सहायता करते होंगे।
  • जवाब - लोग ढिंढोरा पीट कर जरूरतमंदों की मदद करते हैं माही गोपनीय तरीके से इंसान की मदद करते हैं।

आम लोगों को परेशानी ना हो..

आम लोगों को परेशानी ना हो..

  • सवाल - क्या कभी आप ने श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में उन्हें दर्शन करने को नहीं कहा?
  • जवाब - मैंने कई बार बाबा के दर्शन की बात की और वो आना भी चाहते थे पर आम लोगों को परेशानी ना हो इसी कारण नहीं आये।

काशी विश्वनाथ मंदिर में अनुष्ठान

काशी विश्वनाथ मंदिर में अनुष्ठान

  • सवाल - आप ने कभी काशी विश्वनाथ मंदिर में उनका अनुष्ठान किया है?
  • जवाब - जी हांं, महेन्द्र सिंह धोनी का जब भी कोई महत्वपूर्ण मैच होता था मैं बकायदा रसीद कटा कर उनका अनुष्ठान श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में करता था।

कप्तानी छोड़ने से टीम को नुकसान?

कप्तानी छोड़ने से टीम को नुकसान?

  • सवाल- महेन्द्र सिंह धोनी का वन डे और टी 20 से कप्तानी छोड़ने से क्या टीम को नुकसान होगा?
  • जवाब- बिल्कुल धोनी एक ऐसे कप्तान थे जिन्होंने न जाने कितने मैच भारतीय टीम को जिताए हैं, ये बड़ा नुकसान हैं।

बनारसी फैन्स की निगाहों में धोनी

बनारसी फैन्स की निगाहों में धोनी

वाराणसी में एक जिम में हुई मुलाकात में माही के फैंस संदीप ने हमें बताया की जब जिम के कार्यक्रम में मैं धोनी से मिला तो उन्हें देख कर लगा ही नहीं कि वो इतने बड़े खिलाड़ी हैं, वो तो एकदम आम जिंदगी जीने वाले शख्स है, उनसे कोई मिले नहीं इसलिए चारों तरफ से सुरक्षा कर्मियों ने उन्हें घेर रखा था पर जब मुझ पर उनकी निगाह पड़ी तो उन्होंने खुद अपने पास भी बुलाया और फोटो भी खिंचवाई।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mahendra Singh Dhoni is very Religious Person said Pandit Srikant. Dhoni is very noble and simple man, he said.
Please Wait while comments are loading...