आखिर क्यों खाने के लिए तरस रही है राहुल द्रविड़ की अंडर-19 क्रिकेट टीम?

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के एक कड़े फैसले के कारण इन दिनों भारत की अंडर-19 टीम और उसके कोच राहुल द्रविड़ खाने के लिए तरस रहे हैं। इस चौंकाने वाली खबर का खुलासा किया है अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्‍सप्रेस ने।

भारत की अंडर-19 टीम को अब तब दैनिक भत्ता नहीं मिला

जिसकी रिपोर्ट के मुताबिक इंग्‍लैंड के खिलाफ इस समय वनडे सीरीज खेल रही भारत की अंडर-19 टीम और उसके कोच राहुल द्रविड़ को अब तब बोर्ड की ओर से दैनिक भत्ता नहीं मिला है जिसके कारण आर्थिक परेशानियां हो रही है। टीम के सदस्य होटल के खर्चे को नहीं उठा पा रहे हैं।

अजय शिर्के को बीसीसीआई सचिव पद से हटना पड़ा

दरअसल सुप्रीम कोर्ट के फैसले के कारण अजय शिर्के को बीसीसीआई सचिव पद से हटना पड़ा था जिसके बाद अभी तक उस सीट पर कोई आया नहीं है जिसके कारण ये विकट स्थिति पैदा हो गई है। इस स्थिति को और गंभीर कर दिया है नोटबंदी के फैसले के बाद हुए धन निकासी की तय सीमा ने।

जूनियर टीम के खिलाड़ि‍यों को नहीं मिल रहा है भत्ता

गौरतलब है कि जूनियर टीम के खिलाड़ि‍यों को 6,800 रुपये प्रतिदिन का भत्ता मिलता है जो अभी मिल नहीं रहा है जिसके कारण टीम के सदस्य अपनी पॉकेट से खर्च करने को मजबूर हैं। टीम के खिलाड़ी जिस होटल में है वो आवश्यकता से काफी महंगा है ऐसे में टीम के कई सदस्यों को तो खाने के लिए अपने घर से पैसे मंगाने पड़ रहे हैं और जो ऐसा नहीं कर पा रहे हैं वो होटल के बाहर खाना खाने को मजबूर हैं जो कि उनकी सेहत और खेल दोनों के लिए अच्छा नहीं है।

बीसीसीआई की ओर से आया बयान

हालांकि बीसीसीआई की ओर से कहा गया है कि जैसे ही सीरीज खत्‍म होगी, हम 'डीए' सीधे खिलाड़ि‍यों और सपोर्ट स्‍टाफ के खाते में भेज देंगें, खैर ये तो बाद की बात है लेकिन इसमें कोई शक नहीं कि मौजूदा दौर में भारत की अंडर-19 टीम काफी परेशानियों से गुजर रही है।

जहीर खान संग प्रेम की बात पर पहली बार बोलीं एक्ट्रेस सागरिका घाटगे

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A FORTNIGHT into their 30-day home series against England, India’s Under-19 cricketers and their support staff, including coach Rahul Dravid, are yet to receive their daily allowances.
Please Wait while comments are loading...