जब पापा 'कोहली' ने कहा ...विराट को खेलने देना बस...

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

बैंगलुरू। 5 नवंबर को भारत के टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली का जन्मदिन हैं। दिल्ली के इस छोरे के लिए क्रिकेट कितना मायने रखता है इस बात का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि साल 2008 में रणजी ट्रॉफी मैच के दौरान जब दिल्ली की ओर से वो कर्नाटक के खिलाफ खेल रहे थे उसी दिन उनके पिता प्रेमजी कोहली ने दुनिया को अलविदा कह दिया था।

Birthday Special: विराट कोहली... क्रिकेट के हर फार्मेट में फिट भी और हिट भी...

virat kohli

पेश से वकील उनके पिता प्रेम जी काफी समय से बीमार थे, जिस समय उन्होंने दुनिया छोड़ी उस समय कोहली घर पर नहीं बल्कि मैदान पर थे। मैच के बाद उन्हें इस बात की जानकरी दी गई।

चौंकाने वाला खुलासा: बाबा ने कान में फूंका था मंत्र उसके बाद कोहली बन गए सुपर स्‍टार

आप इस बात अंदाजा लगा सकते हैं कि कोहली के लिए उनका खेल कितना महत्वपूर्ण है जिसकी वजह से उनके घरवालों ने इतनी बड़ी बात भी उन्हें मैच के दौरान नहीं बतायी। दरअसल कोहली के पापा ने ही अपनी फैमिली से कहा था कि विराट को खेल के बीच में परेशान नहीं करना, उसे खेलने देना, बड़ी मुश्किल से वो वहां पहुंचा है और इसी वजह से कोहली को उसके पापा के बारे में मैच के बाद बताया गया।

Rockstar Series: जानिए कोहली क्यों बने यूं 'विराट'?

कहा जाता है कि कोहली जब तीन साल के थे तभी उन्होंने प्लास्टिक का बैट उठाकर अपने पापा से कहा था कि वो बॉलिंग करें, तब ही उनके मां-बाप को अंदाजा हो गया था कि हो सकता है कि आगे चलकर यह क्रिकेट की दुनिया में ही नाम कमाये।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
According to Virat Kohli family, when he was three-years old, Kohli would pick up a cricket bat, start swinging it and ask his father to bowl at him.
Please Wait while comments are loading...