जीएसटी दर: अगले साल महंगे आईपीएल के लिए तैयार रहें

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

जीएसटी परिषद ने शुक्रवार को नई टैक्स व्यवस्था को लागू करने की ओर कदम बढ़ा दिया है। नए ढांचे के तहत सेवाओं को चार टैक्स स्लैब में विभाजित किया गया है। जिसके तहत 5 प्रतिशत, 12 प्रतिशत, 18 प्रतिशत और 28 प्रतिशत के चार स्लैब हैं। संभवत: 1 जुलाई से लागू किए जाने वाले जीएसटी को लेकर फिलहाल 1,211 आइटम्स की दरें तय कर ली हैं। इनमें से ज्यादातर आइटम्स को 18 पर्सेंट स्लैब के दायरे में रखा गया है। हालांकि अधिकांश सेवाओं को बड़े पैमाने पर छूट दी गई है तो कुछ सेवाओं पर कम प्रभाव पड़ेगा। लेकिन इससे आईपीएल देखना भी महंगा होगा।

जीएसटी दर: अगले साल महंगे आईपीएल के लिए तैयार रहें

जी हां आईपीएल टिकट खरीदने या उन रेस क्लबों में शांमिल होने से पहले दो बार सोचों। क्योंकि आईपीएल के टिकटों को 28 प्रतिशत टैक्स स्लैब में रखा गया है। इस हिसाब से आईपीएल के टिकट महंगे होना तया है। वहीं इसके अलावा रेस क्लबों में सट्टेबाजी के लिए अब आप पर 28 फीसदी का टैक्स लगाया जाएगा। दूरसंचार सेवाएं भी थोड़ी महंगी हो सकती हैं लेकिन सरकार का मानना है कि टैक्स की दर 18 प्रतिशत से अधिक होने के बावजूद 'इनपुट' टैक्स क्रेडिट कीमतों को समान रख सकता है। यही नियम वित्तीय सेवाओं के लिए भी लागू रहेगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
GST: Be prepared for an expensive next IPL
Please Wait while comments are loading...