स्पॉट फिक्सिंग के दाग धोना चाहता था आमिर, लिख दिया इतिहास

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

कराची, 19 जून: चैंपियंस ट्रॉफी 2017 में भारत को हराने में पाकिस्तान के गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने सबसे ज्यादा अहम भूमिका निभाई थी। स्पॉट फिक्सिंग के आरोप में मोहम्मद आमिर पर पांच साल के लिए प्रतिबंध लगाए जाने के सात साल बाद उनके परिवार ने अंततः राहत की सांस ली है। उनके भाई नावीद और एजाज ने कहा कि आमिर का चैम्पियंस ट्राफी के फाइनल में भारत के खिलाफ नयी गेंद से शानदार स्पैल और पूरे पाकिस्तान में जश्न ने उन पर से दबाव हटा दिया है।

स्पॉट फिक्सिंग के दाग धुलना चाहता था आमिर, लिख दिया इतिहास

नावीद ने लाहौर से पीटीआई से फोन पर कहा, स्पाट फिक्सिंग प्रकरण के बाद हम काफी शर्मसार थे और लोगों का सामना करने में हमें काफी बुरा लग रहा था। आमिर के भाई नावेद ने कहा, "हमारा गांव रावलपिंडी के पास चंगा बंगील है। स्पॉट फिक्सिंग कांड होने के बाद हमें काफी शर्मिंदगी झेलनी पड़ी और लोगों ने हमारे साथ काफी बुरा वर्ताव किया।

अब हमारा परिवार डिफेंस लाहौर में शिफ्ट हो गया है, लेकिन हमारी जड़ें गांव से जुड़ी हैं और अब जब हम वहां जाएंगे तो हम अपने लोगों से एक बार फिर गर्व के साथ मिल सकेंगे।"

आमिर के भाई ने कहा कि "वो (आमिर) अपने ऊपर लगे फिक्सिंग के दाग को धुलना चाहता था। रविवार को भारत के खिलाफ उसे सही मौका मिल गया। वो पहले ही कुछ असाधारण करना चाहता था जिससे लोग हमें एक बार फिर से इज्जत दे सके।"

पाकिस्तानी टीम के कोच मिकी आर्थर ने आमिर की तारीफ करते हुए कहा कि वो मैच वो मैच विजेता है। उन्होंने कहा, 'मैं इतना जानता हूं कि आमिर मैच जिताने वाला खिलाड़ी है। जब कोई बड़ा मुकाबला हो तो वह और अच्छा प्रदर्शन करता है। वह दबाव भरे हालात से नहीं डरता।"

 

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Champions trophy 2017: After serving ban, Amir wanted to do something exceptional says brother
Please Wait while comments are loading...