BCCI नहीं मानेगी लोढ़ा समिति की कुछ सिफारिशें, कुछ को मिली मंजूरी

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने बीसीसीआई में सुधार को लेकर बनाई गई जस्टिस लोढ़ा कमेटी के कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं को छोड़ने का फैसला किया है।

सर्जरी के बाद बेहोश मरीज सरीखी हो गई है पाकिस्तान की हालात- रक्षामंत्री

BCCI

शनिवार (1 अक्टूबर) को हो मुंबई में हुई बैठक में लोढ़ा कमेटी की जहां नौ सिफारिशों को मंजूर किया गया वहीं कई सिफारिशों को नजरअंदाज भी किया गया।

ये हैं वो बिन्दु जिन्हें नहीं मानेगी BCCI

बीसीसीआई ने बैठक में 70 वर्ष से ज्यादा उम्र के पदाधिकारियों को बाहर का रास्ता दिखाने, 9 साल या तीन कार्यकाल, लेकिन यह एक साथ न हो, एक व्यक्ति, एक पद, एक राज्य, एक वोट चयन समिति में तीन सदस्य सरीखी कई सिफारिशों को मानने से इनकार कर दिया।

झारखंड: पुलिस की फायरिंग में 4 ग्रामीणों की मौत, 10 घायल

जिन सिफारिशों को बोर्ड ने आम सहमति प्रदान की है उसमें अपेक्स काउंसिल बनाने की सिफारिश शामिल है।

7 घंटे चली बोर्ड की मीटिंग के बाद बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने कहा कि हमने लोढ़ा कमेटी उन सिफारिशों को मंजूर नहीं किया है जिनको मानने में व्यवहारिक दिक्कतें हैं अथवा जिन सिफारिशों को कानूनन चुनौती दी जा सकती है।

ठाकुर ने कहा कि बीसीसीआई की संरचना ऐसी है कि सदस्य बोर्ड का गठन करते हैं। हम इस संबंध में सर्वोच्च न्यायालय को रिपोर्ट भेजेंगे।

कावेरी विवाद पर कर्नाटक सरकार दायर करेगी रिव्यू पिटिशन- मुख्यमंत्री

इन्हें BCCI ने दी अनुमति

वहीं बीसीसीआई ने लोढ़ा समिति की जिन सिफारिशों को माना है उनमें अपेक्स काउंसिल, कैग के प्रतिनिधि को अपेक्स और आईपीएल गवर्निंग काउंसिल का सदस्य बनाने, खिलाड़ियों का संगठन बनाने, एजेंट के रजिस्ट्रेशन से जुड़े नियम और आईसीसी के नियमानुसार एसोसिएट सदस्यों को भी मताधिकार शामिल है।

PAK के चंगुल से कब आजाद होंगे चंदू बाबूलाल चौहान?

बता दें कि इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को कड़ी फटकार लगाई थी और कहा था कि वो खुद सीधे हो जाएं, वरना कोर्ट को आदेश के ज़रिये उन्हें सीधा करना पड़ेगा।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
BCCI defies Supreme Court, rejects Lodha Panel’s key recommendations.
Please Wait while comments are loading...