कौन है जस्टिस लोढ़ा, जिन्होंने अनुराग ठाकुर को किया क्लीन-बोल्ड?

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद न्यायमूर्ति आर.एम. लोढ़ा ने कहा सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अनुराग ठाकुर को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष पद से हटाना न्यायसंगत है।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। आज देश की सर्वोच्च अदालत ने ऐसा फैसला सुनाया जिसके बाद क्रिकेट के मैदान से लेकर राजनीति के गलियारों में उथुल पुथल मच गई है। सुप्रीम कोर्ट ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर और सचिव अजय शिर्के को पद से हटा दिया।

जानिए कड़क मिजाज अनुराग ठाकुर के बारे में कुछ दिलचस्प बातें

लोढ़ा समिति की सिफारिशों को लागू करने को लेकर अड़ियल रुख अपनाए जाने को लेकर अनुराग ठाकुर को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया है।

अब सवाल ये उठता है कि आखिर जस्टिस लोढ़ा हैं कौन, जिनकी बॉल पर अनुराग ठाकुर हुए क्लीन बोल्ड...

  • जस्टिस लोढ़ा का पुरा नाम राजेन्द्र मल लोढ़ा है।
  • इनका जन्म जोधपुर में 28 सितम्बर 1949 को हुआ था।
  • इन्होंने जोधपुर से ही वकालत तक की पढ़ाई की है।
  • इन्होंने 1973 में राजस्थान हाईकोर्ट से वकालत शुरू की थी।
  • साल 1994 में इन्हें राजस्थान उच्च न्यायालय में न्यायाधीश बनाया गया।
  • साल 2008 में लोढ़ा पटना हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बने।
  • और इसी साल इन्हें सुप्रीम कोर्ट का न्यायाधीश बनाया गया।
  • अप्रैल 2014 में पांच माह के लिए देश के मुख्य न्यायाधीश बनाए गए।

अनुराग ठाकुर का निष्कासन न्यायसंगत : लोढ़ा

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद न्यायमूर्ति आर.एम. लोढ़ा ने कहा सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अनुराग ठाकुर को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष पद से हटाना न्यायसंगत है। यह फैसला भारत में खेल की और विशेषकर क्रिकेट की जीत है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The removal of Anurag Thakur as the BCCI President was a logical consequence by the Supreme Court, Justice R.M. Lodha said on Monday.
Please Wait while comments are loading...