सुप्रीम कोर्ट की पिच पर लोढ़ा की गुगली से अनुराग ठाकुर हुए रिटायर्ड हर्ट, जानिए खास बातें

सुप्रीम कोर्ट ने अनुराग ठाकुर को बीसीसीआई के अध्यक्ष पद से हटा दिया है,कोर्ट ने जस्टिस लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों को सही ढंग से लागू नहीं करने पर यह निर्णय लिया है।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को एक चौंकाने वाला फैसला सुनाते हुए अनुराग ठाकुर को बीसीसीआई के अध्यक्ष पद से हटा दिया। बीसीसीआई की टी20 वाली पारी खेलेने वाले अनुराग ठाकुर जब तक इस पद पर रहे, तब तक अपने हिसाब से बैटिंग करते रहे, लेकिन लोढ़ा समिति की गुगली के आगे जनाब की एक नहीं चली और ना चाहते हुए भी उन्हें रिटायर्ड हर्ट होना पड़ा।

बीसीसीआई अध्यक्ष बन सकते हैं पूर्व स्टार क्रिकेटर सौरव गांगुली, रेस में सबसे आगे

गौरतलब है कि देश की सबसे बड़ी अदालत ने न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) आर. एम. लोढ़ा की अध्यक्षता वाली समिति की सिफारिशों को लागू न करने पर अनुराग के साथ बोर्ड के सचिव अजय शिर्के को भी हटा दिया है।

भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते लोगों के बीच चर्चा का केंद्र बने अनुराग

लेकिन एक खास बात ये है कि अनुराग पहली बार अनचाही बातों के लिए हेडलाइंस नहीं बने हैं, बल्कि इससे पहले भी वो कई बार भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते लोगों के बीच चर्चा का केंद्र बन चुके हैं।

खास बातें

  • मई, 2008 में हुए पहली बार सांसद चुने जाने वाले अनुराग ठाकुर के ऊपर धर्मशाला क्रिकेट स्टेडियम के निर्माण में भ्रष्टाचार के आरोप लगा था।
  • अनुराग पर एचपीसीए को खिलाड़ियों के लिए बनवाए जा रहे घरों के लिए भूमि आवंटन करने में गड़बड़ी करने का भी आरोप लगा है।
  • सतर्कता आयोग ने अनुराग और उनके छोटे भाई अरुण धूमल पर राजस्व दस्तावेजों में हेरफेर करने का आरोप लगाया है। 
  • अनुराग के खिलाफ घपलेबाजी के कई आरोप भी देश के कई अदालतों में चल रहे हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Dethroned BCCI President Anurag Thakur's innings in Indian cricket was just like a T20 match -- fast furious but short-lived.
Please Wait while comments are loading...