अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर गोल्ड मेडल जीतने वाले आजगढ़ के डीएम पहले IAS

आजमगढ़ के डीएम सुहास ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहली बार जीता गोल्ड मेडल, देश के पहले आईएएस जिन्होंने यह उपलब्धि हासिल की है।

Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। प्रशासनिक कामों के लिए दक्ष माने जाने वाले देश देश के आईएएस अधिकारी अब खेल के मैदान पर भी अपना परचम लहरा रहे है। आजमगढ़ के डीएम सुहास एलवाई ने बैंडमिंटन की दुनिया में एक पैर ना होने के बावजूद भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है।

suhas

मोहाली टेस्ट: जडेजा का शानदार अर्धशतक, भारत का स्कोर 354/7

इंडोनशिया के सुशांत को फाइनल में हराया 
सुहास ने शनिवार को पेइचिंग में एशियन पैरा बैडमिंटन फाइनल जीतकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया है। फाइनल मुकाबले में सुहास ने इंडोनिशिया के सुशांत को 21-2, 21-11 से हराकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया है।

इस उपलब्धि के साथ ही सुहास अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कोई मेडल जीतने वाले पहले आईएएस अधिकारी बन गए हैं। इंडोनिशिया में पेइचिंग एशियन पैरा बैडमिंटन टूर्नामेंट 22 नवंबर को शुरु हुआ था जोकि 27 नवंबर को खत्म हुआ।

जमकर मिल रही है बधाई
सुहास को उनकी उपलब्धि पर ना सिर्फ सोशलल मीडिया बधाई दे रहा है बल्कि आईएएस एसोसिएशन के लोगों ने भी बधाई दी हैं। आपको बता दें कि इससे पहले भी सुहास इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंचे थे लेकिन वह क्वार्टर फाइनल में हार गए थे।

डेढ़ महीने से कर रहे थे प्रैक्टिस

पेइचिंग एशियन पैरा बैडमिंटन टूर्नामेंट के लिए सुहास पिछले डेढ़ महीने से तैयारी कर रहे थे। वह सुबह 10 बजे से प्रैक्टिस करते थे और छुट्टी के दिन सुबह और शाम दोनों समय प्रैक्टिस करते थे।

सुहास की गिनती अच्छे अधिकारी के तौर पर होती है, उनके परिवार में एक 6 साल की बेटी व 2 साल का बेटा है। इस जीत के बाद सुहास के बच्चे और परिवार में भी खुशी का माहौल है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Azamgarh DM Suhas becomes the first IAS to win an international medal in badminton. He beats Indonesia's Sushanto by 21-2, 21-27.
Please Wait while comments are loading...