भारतीय एथलीट का खुलासा, रियो के दौरान जा सकती थी मेरी जान

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। रियो ओलंपिक से हिस्सा लेकर लौटी भारतीय एथलीट ने बड़ा ही चौंकाने वाला खुलासा किया है।

एथलीट ओपी जाइशा ने बताया कि मैराथन के दौरान उन्हें तय जगह पर पानी नहीं मिला जिसकी वजह से उनके प्रदर्शन पर असर पड़ा और वह बेहोश भी हो गई।

op jaisha

ओपी जाइशा का बड़ा खुलासा

ओपी जाइशा ने बताया कि उन्होंने करीब 43 किमी. की दौड़ लगाई लेकिन इस दौरान उन्हें आठ किलोमीटर पर पानी मिल रहा था। जबकि दूसरे देशों के एथलीट्स को हर ढाई किलोमीटर पर पानी की व्यवस्था की गई थी।

दीपा के घर आने की खुशी में त्रिपुरा सरकार ने घोषित की 1 दिन की छुट्टी

जायशा ने खुलासा करते हुए कहा कि भारतीय टीम का कोई भी स्टाफ पानी मुहैया कराने के लिए मौजूद नहीं था। विपरीत हालात में बिना पानी के ही हमें दौड़ना पड़ा जिसकी वजह से मैं बेहोश हुई। करीब तीन घंटे बाद में हमें होश आया।

राष्ट्रीय रिकॉर्ड कायम करने वाली एथलीट जायशा ने कहा कि हमें कहीं भी अपना तिरंगा दिखाई नहीं दिया। जबकि तिरंगा दिखने से मन में जोश आता है और एक अंदरूनी ताकत मिलती है।

उन्होंने अपने खुलासे में कहा कि एक भी भारतीय अधिकारी रियो में मैराथन के दौरान रिफ्रेशमेंट प्वाइंट पर नजर नहीं आया। वहीं दूसरे देशों के अधिकारी अपने एथलीट को रिफ्रेशमेंट और पानी की व्यवस्था में जुटे हुए थे। उन्हें पानी के साथ-साथ ग्लूकोज, शहद और दूसरे जरूरी पदार्थ भी मुहैया कराए गए थे।

कोच और फेडरेशन पर उठाए सवाल

केरल की इस एथलीट ने बताया कि उनकी हालत इस कदर खराब हो गई कि मैराथन के दौरान वह बेहोश हो गई और होश में आने में उन्हें करीब 3 घंटे लगे। इसके बाद भी उनकी स्थिति बेहद खराब थी।

गोपीचंद बोले, रियो के दौरान पीएम के ट्वीट से हमें मिली बड़ी प्रेरणा

जायशा ने बताया कि होश आने के बाद मुझे लगा जैसे मैं मौत के मुंह से बाहर आई हूं। भारत आने के बाद भी जब उनसे अस्पताल में भर्ती कराने की बात कही गई तो उन्होंने कहा कि नहीं वह दो से तीन महीने का आयुर्वेदिक इलाज और बॉडी मसाज कराएंगी। इसी से वह वापसी कर सकती हैं। दरअसल भारत लौटने पर भारतीय स्पोर्ट्स अथॉरिटी के डॉक्टरों ने उन्हें बुखार की शिकायत बताई थी।

उन्होंने कहा कि फेडरेशन और कोच का कर्तव्य है कि उनके रिफ्रेशमेंट के लिए खास व्यवस्था की जाए और इसके लिए स्टाफ रखा जाए। उन्होंने कोच निकोलाई पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने हमें पूरी मैराथन पूरी करने के लिए दबाव बनाया था। ऐसा तब किया गया जबकि ट्रेनिंग के दौरान मैं घायल हो गई थी और मुझे आराम का भी समय नहीं दिया गया था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Athlete OP Jaisha reveals why she collapsed during her marathon run at Rio, says water was only available every 8kms.
Please Wait while comments are loading...