साथी देखते रहे, महिला ने बचाई सेना के जवान की जान

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। हिमाचल प्रदेश के शिमला स्थित कोटखाई की एक महिला के सूझबूझ भरे फैसले से सेना के घायल जवान को नया जीवन मिला।

indian army jawan

सांकेतिक फोटो

घटना 20 अगस्त की बताई जा रही है। जुघौट कैंट में प्रशिक्षण ले रहे असम राइफल्स के जवान मुकेश कुमार उस समय मुसीबत में फंस गए जब आवारा कुत्तों का एक झुंड उनकी तरफ बढ़ रहा था।

इंडियन आर्मी को कश्‍मीर खाली करने के लिए कहने वाले गिलानी गिरफ्तार

50 फीट खाई में गिरे मुकेश

इन कुत्तों से बचने के लिए मुकेश भागने लगे और फिसलकर 50 फीट गहरी खाई में गिर गए। मुकेश का सिर पत्थर से टकराने के कारण वो बेहोश हो गए। जवान की हालत देख कर उसके साथी मदद के लिए चीखने लगे।

कश्‍मीर में बच्‍चे खिलौने वाली एके-47 लेकर जा रहे रैलियों में!

आवाज सुनकर 42 वर्षीय वीना शर्मा हादसे वाली जगह पहुंची। वहां मौजूद जवानों को लग रह था कि मुकेश की मौत हो चुकी है लेकिन वीना ने अपने मुंह से जवान को सांसे देकर उसे जीवनदान दिया।

साथी जवान मुकेश को मान चुके थे मृत

वहीं मुकेश के साथ जवान वीना के आने से पहले उसे मृत मान चुके थे और वो लाचार खड़े थे।

सेना ने सैनिकों को लिखा पत्र, शराब लेकर न जायें बिहार

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार वीना ने बताया कि घायल मुकेश को अस्पताल पहुंचाने का कई रास्ता समझ में नहीं आया ऐसे में उन्होंने अपने 72 वर्षीय पिता रमेश शर्मा को कार के साथ घटना स्छल पर आने के लिए कहा।

जवानों में से भी किसी को गाड़ी चलाना नहीं आता था। ऐसे में उनके पिता ने ही गाड़ी चला कर जवान को अस्पताल पहुंचाया। समय से इलाज मिलने के कारण जवान की जान बच गई।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
women saved indian army's jawan life in shimla.
Please Wait while comments are loading...