जब शिमला में सड़क पर उतर आए लोग, बरसाने लगे पत्थर

शिमला की सड़कों पर युवाओं ने बरसाए पत्थर।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

शिमला।हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में उस समय देखने वालों की आंखें फटी रह गईं, जब सड़क पर उतरी भीड़ ने पत्थरबाजी शुरू कर दी।

shimla

शिमला के गांव धामी में दो लोगों की दो टोलियों के बीच 15-20 मिनट तक जमकर पत्थर चले लेकिन ये पत्थर किसी विरोध या झगड़े में नहीं बल्कि एतेहासिक महत्व रखने वाले एक मेले के दौरान बरसे।

धामी में रविवार को पारंपरिक पत्थरबाजी का त्योहार मनाया गया। इसमें पत्थरबाजी करने की परंपरा है। इस दौरान ना सिर्फ पत्थरबाजी हुई बल्कि ढोल नगाड़ों से शोभायात्रा भी निकली।

जानिए छठ पूजा के बारे में खास बातें...

जमीन पर लेट गाय को ऊपर से उतारा

एक तरफ शिमला में पारंपरिक पत्थरबाजी का त्योहार मना तो वहीं गुजरात के दाहोद में गाई गोहरी धूमधाम से मनाया गया, इस त्योहार की परंपरा के मुताबिक लोगों ने खुद नीचे लेट कर अपने ऊपर से गाय और बैलों को गुजारा।

गाई गोहरी का त्योहार खूब धूमधाम से मना। इसमें गाय और बैलों को अच्छे से सजाया भी गया। इस दौरान भारी भीड़ रही।

बहन-भाई के प्रेम और त्याग की कहानी कहता है भाई-दूज

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Locals in a village in shimla organized traditional fair of stone pelting
Please Wait while comments are loading...