गौरक्षा के नाम पर हिंसा करने वाले को साध्वी ने बताया 'भगत सिंह', कहा- कुछ गलत नहीं किया

Subscribe to Oneindia Hindi

जयपुर। राजस्थान के अलवर में एक अप्रैल को गौरक्षा के नाम पर पांच लोगों पर हुए हमले के आरोपी 19 साल के विपिन यादव की पहचान पुलिस ने कर ली है। हमले में पहलू खान नाम के शख्स की मौत हो गई थी जबकि चार अन्य घायल हुए थे। खुद को गौरक्षक बताने वाली साध्वी कमल दीदी ने आरोपी विपिन को आज का भगत सिंह और चंद्रशेखर आजाद बताया है।

गौरक्षा के नाम पर हिंसा करने वाले को साध्वी ने बताया 'भगत सिंह', कहा- कुछ गलत नहीं किया

परीक्षा देने पहुंचा था आरोपी
न्यायिक हिरासत में परीक्षा देने पहुंचे विपिन से सोमवार को साध्वी ने बेहरोर स्थित कॉलेज में मुलाकात की। साध्वी कमल ने उससे कहा, 'पूरा भारत तेरे साथ में है और हम अपने देश में ऐसे काम नहीं करेंगे तो कहां करेंगे। कोई भी तो ना झुके, और ना तुझे किसी प्रकार की चिंता करने की जरूरत है।' READ ALSO: गुजरात में मुस्लिम बच्ची ने PM मोदी को दी सोने की गाय, साथ में की एक अपील

साध्वी ने किए सवाल
साध्वी ने विपिन से जेल की सुविधाओं को परेशानियों को लेक भी सवाल किया। उन्होंने कहा, 'वहां अच्छे से खाना-पीना और रहने दे रहे हैं ना?' विपिन के इनकार करने पर साध्वी ने फिर कहा, 'चिंता ना कर तू। तू घबराया हुआ कैसे बोल रहा है बेटा।' साध्वी की इस बात पर विपिन ने कहा, 'नहीं है ऐसी कोई बात।' READ ALSO: CM सर्बानंद सोनोवाल की विधानसभा में साइकिल पर बांधकर ले जानी पड़ी लाश

'इन्होंने कुछ गलत नहीं किया'
वहां मौजूद तमाम युवाओं और पुलिसकर्मियों के बीच साध्वी कमल ने विपिन यादव को भगत सिंह बताते हुए कहा, 'ये भगत सिंह, आजाद सुखदेव, ये हैं। ये लोग। इन्होंने कोई भी गलत काम नहीं किया। किसी प्रकार का गलत काम नहीं करके गए।'

बता दें कि बीते महीने जयपुर के एक होटल में कथित बीफ पार्टी होने और गाय का मांस खाने की अफवाह के बाद साध्वी और उनके कुछ समर्थकों ने जमकर बवाल किया था। साध्वी ने विपिन को सिर्फ जेल में बैठे रहकर वक्त न बर्बाद करने के लिए कहा। उन्होंने विपिन से जेल में गौरक्षा का संदेश फैलाने के लिए भी कहा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Sadhvi Kamal termed alwar violence accused as today's bhagat singh.
Please Wait while comments are loading...