अब राजस्थान में बारहवीं के छात्र पढ़ेंगे कैशलेस इकॉनमी और नोटबंदी

राजस्थान बोर्ड ने फैसला किया है कि अगले शैक्षणिक सत्र से बारहवीं के स्टूडेंट्स के सिलेबस में कैशलेस इकॉनमी और विमुद्रीकरण जोड़ा जाएगा।

Subscribe to Oneindia Hindi

जयपुर। राजस्थान बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन अब ट्वेल्थ के स्टूडेंट्स के सिलेबस में कैशलेस इकॉनमी और विमुद्रीकरण शामिल करेगी। मिली जानकारी के अनुसार अगले एकेडमिक सेशन से स्टूडेंट्स के सिलेबस में ये दोनों टॉपिक्स शामिल किए जाएंगे।

अब राजस्थान में बारहवीं के छात्र पढ़ेंगे कैशलेस इकॉनमी और नोटबंदी

बोर्ड के अध्यक्ष बीएल चौधरी ने कहा कि स्टूडेंट्स को मोबाइल वॉलेट और कैशलेस सिस्टम भी पढ़ाया जाएगा। हालांकि, शिक्षकों का मानना है कि इन टॉपिक को सिलेबस में जोड़ने के बाद इसके हानि और लाभ दोनों की जानकारी दी जानी चाहिए। वहीं कांग्रेस ने बोर्ड की इस योजना को नापसंद किया है।
पीसीसी अध्यक्ष सचिन पायलट ने इसे चौंकाने वाला कदम बताया है। बता दें कि अजमेर स्थित विद्यार्थी सेवा केंद्र के परिसर में बोर्ड ने स्वाइप मशीनें भी लगा रखी हैं।गौरतलब है कि बीते साल 8 नवंबर को राष्ट्र के नाम संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1,000 रुपए की करेंसी को विमुद्रीकृत किए जाने की घोषणा की थी। इसके बाद 500 और 2,000 रुपए के नए करेंसी नोट लाए गए थे। इस मुद्दे पर कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दलों ने सरकार का विरोध किया था। ये भी पढ़ें:7 तारीख, 7 बयान: क्‍या सोच समझकर ही बयान देते हैं देश के नेता?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Rajasthan students to study cashless economy and demonetisation
Please Wait while comments are loading...