नोट बैन: बैंक की लाइन में पीछे खड़े दूल्हे को भेजा सबसे आगे, कहा- हमसे पहले पैसे इन्हें दे दीजिए

Subscribe to Oneindia Hindi

जोधपुर। मंगलवार की सुबह जब राजस्थान के जोधपुर स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की ब्रांच पर साफा बांधे एक शख्स आया तो वहां खड़ी भीड़ उसे मुड़कर देखने लगी।

जब लोगों को यह पता चला की साफा बांधे हुए शख्स दूल्हा है तो लोगों ने ना सिर्फ आगे जाने दिया बल्कि बैंक अधकारियों से भी गुहार लगाई कि इसे पहले पैसा दिया जाए।

सोमवार (14 नवंबर) को छुट्टी के बाद लोग मंगलवार की सुबह बैंक और एटीएम पहुंचे। उनमें से एक प्रताप सिंह जिनकी शादी बुधवार को ही होनी थी, वो भी लाइन का हिस्सा थे।

मुंबई में काम करने वाले इस शख्स के खाते में आए लाखों रुपए, बैंक ने सीज किया खाता

MARRIGAE

पूरा परिवार नकद की तंगी से जूझ रहा है

उन्होंने कहा कि उनका पूरा परिवार नकदी की तंगी से जूझ रहा है और आज मैं खुद अपने खाते से कुछ पैसे निकालने आया हूं। मेरे परिवार के अन्य लोग भी जगह-जगह लाइनों में लगे हैं।

नोटबैन: जीबी रोड के सेक्स वर्कर्स का बिजनेस ठप, कह रहे हमारे धंधे में उधार नहीं चलता

शुरु में लोगों को इस बात की जानकारी नहीं थी कि पारंपरिक साफा बांधे लाइन में खड़ा यह शख्स कौन है। लेकिन जब उन्हें जानकारी हुई तो सभी ने उन्हें आगे जाने दिया और अधिकारियों से भी प्रताप के लिए अपील की।

वहां मौजूद लोगों ने कहा कि हमसे पहले पैसे इन्हें दे दीजिए।

मैं सभी का आभारी

लोगों की अपील और भावनाओं से खुश प्रताप ने कहा कि वो बहुत अभारी हैं और उन्होंने जोधपुर के लोगों का वो गुण देखा जिसके लिए ये जगह विश्व भर में विख्यात है।

प्रताप ने कहा कि बीते 3-54 दिनों से वो और उसके दोस्त लंबी-लंबी लाइनों में लग रहे हैं ताकि शादी आसानी से निपट सके।

अप्रैल 2017 से 500-1,000 के खत्म किए गए नोट रखना होगा जुर्म,मिलेगी सजा

बता दें कि 8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम दिए अपने संबोधन में यह घोषणा की थी कि 500 और 1,000 के नोट विमुद्रीकृत किए जा रहे हैं। साथ ही उन्होंने देश से 50 दिनों का वक्त मांगा था।

हालांकि विपक्ष की ओर से इस फैसले का बड़े स्तर पर विरोध किया जा रहा है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Currency Ban: People helps a groom in jodhpur for cash
Please Wait while comments are loading...