उरी के बाद सीमावर्ती क्षेत्रों की सुरक्षा पर सेना, एजेंसियां सतर्क, BSF ने की बैठक

Subscribe to Oneindia Hindi

जैसेलमेर। जम्मू कश्मीर स्थित उरी में भारतीय सेना के बेस कैंप पर हमले के बाद भारत की सुरक्षा एजेंसियां और सेना सतर्क हो गईं हैं।

uri

वर्ष 2016 में इंडियन आर्मी ने गंवाए अपने सबसे ज्‍यादा जवान

बॉर्डर पर सुरक्षा स्थितियों का जायजा लेने के लिए बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स ने राजस्थान के जैसेलमेर में बीएसएफ की कमांडर लेवल की मीटिंग हुई। मीटिंग में सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षा हालातों के संबंध में चर्चा हुई।

सुरक्षा में कोई खामी नहीं चाहती एजेंसियां

गौरतलब है कि रविवार को उरी में हुए हमले के बाद भारतीय सेना और अन्य एजेंसियां ने पाक से सटे सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षा में कोई खामी नहीं चाहती।

जानिए क्‍यों किसी आतंकी हमले से पहले चेस्‍ट शेव करते हैं फिदायीन

हमले के बाद भारत तो सजग है कि पाकिस्तान ने भी अपने रेंजर्स की छुट्टी रद्द कर दी है साथ ही जम्मू और कश्मीर और पंजाब की सीमा पर रेंजर्स की संख्या बढ़ा दी है।

वहीं बीएसएफ भी सीमावर्ती इलाकों में ज्यादा चौकसी बरत रही है जो रास्ते आतंकियों के लिए भारत में आने के लिए पुराने हैं।

बता दें कि 18 सिंतबर को हुए हमले में 18 सैनिक शहीद हो गए थे। वहीं 4 आतंकियों को भी मार गिराया गया था।

उरी हमला: BJP नेता ने कहा परमाणु हमले की धमकी से झुकेंगे नहीं

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
BSF's commander level meeting held in Jaisalmer to discuss border security in the wake of Uri Attack
Please Wait while comments are loading...