मौसी को मोबाइल पर चिंघाड़ सुनाने की कोशिश में हाथियों के पैरों तले कुचल गया युवक

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

छत्तीसगढ़। छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर शहर में हाथियों का एक झुंड पिछले कई दिन से लगातार आबादी में घुस आता है जिसे मिलकर ग्रामीण भगाने की कोशिश करते हैं बुधवार को हाथियों के झुंड को भगाने के दौरान हाथी के पास जाने की कोशिश ने एक युवक की जान ले ली।

elephant

बुधवार को तड़के 11 हाथियों का दल अंबिकापुर के होलीक्रास स्कूल के पास तक पहुंच गया था। हाथियों ने वहां जमकर उत्पाद मचाया था। तब लोगों ने मिलकर हाथियों को खदेड़ दिया था।

बुधवार रात को हाथियों का ये झुंड फिर लौट आया। इस दौरान जो युवक फिर से इस झुंड़ को खदेड़ने के लिए पहुंचे उनमें 26 साल का एलबर्ट एक्का भी था, जो हाथियों के पैरों तले कुचला गया।

झारखंड: हाथियों के डर से पेड़ पर रहने को मजबूर हैं कई परिवार

बताया जा रहा है कि युवक हाथियों के करीब पहुंचकर उनके चिंघाड़ने की आवाज मोबाइल से अपनी मौसी को सुना रहा था लेकिन खुद पर लगातार हमले से गुस्साए हाथियों ने युवक को करीब देख उसे कुचल दिया।

लगातार हाथियों के उत्पात से दहशत का माहौल

रात में युवक के घर ना लौटने पर जब सुबह उसकी तलाश की गई तो उसकी क्षत-विक्षत लाश एक खेत में मिली। लाश को देखने के बाद पता चला कि उसे हाथियों ने कुचला है।

बाताया जा रहा है कि उसकी मौसी मैरी मारग्रेट तिग्गा ने मोबाइल से रात करीब साढ़े दस बजे अलबर्ट को कॉल किया था तो उसने हाथियों को खदेड़ने और उनकी चिंघाड सुनाने की बात मौसी से कही लेकिन बाद में बात ना हो सकी।

अवैध संबंधों के शक में पार्टनर की हत्या, शव के किए दो टुकड़े

आपको बता दें कि 11 हाथियों के दल ने पिछले कुछ दिनों से अंबिकापुर से सरगुजा में आतंक मचा रखा है। इन्होंने धान की फसल को भारी नुकसान पहुंचाया है। वहीं इनके उत्पात को देखते हुए ग्रामीणों में भी दहशत है। इससे पहले भी हाथियों के कुचले जाने से क्षेत्र में मौते हुई हैं।

नोएडा: बोरे में मिली बुर्का पहने युवती की लाश, हाथ में लगी थी मेंहदी, बंधे थे पैर

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Man killed by elephants in chhattisgarh
Please Wait while comments are loading...