बीमार‍ियों की चपेट में बिहार, राजनीति में उलझे ज़‍िम्मेदार

Subscribe to Oneindia Hindi

bihar-disease
पटना। बिहार की राजनीति में उल्झे जिम्मेदार भूल गए हैं कि जिस जनता के रहम-ओ-करम से उन्हें गद्दी मिली है, उनका ख्याल भी प्राथम‍िकताओं में होना चाहिए। 'इंसेफलाइटि‍स की तरह ही मानी जा रही एईएस से सैकड़ों बच्चों की मौत के बाद भी राज्य सरकार ने केंद्र से किसी तरह की मदद नहीं मांगी थी। मगर, इसका इंतजार किए बिना यहां आने का फैसला किया।'

यह भी पढ़ें- शटडाउन कर दिए लैपटॉप

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने विशेष अभियान की शुरुआत करने के बाद संवाद्दाताओं से यह बात कही। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री का यह बयान इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि आठ जून को यहां का दौरा करने के बाद मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने केंद्र सरकार व विश्व संगठन से बच्चों को बचाने के लिए मदद लेने की बात कही थी।

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि यहां के बच्चों की मौत का कारण जानने के लिए और गहराई से रिसर्च की आवश्यकता है। ताकि, पता चल सके कि यह वायरल, टॉक्सिक, मेटाबॉलिक या कुछ और है। इंसेफेलाइटिस है या उससे मिलती-जुलती बीमारी। इसके लिए वे सीडीसी अटलांटा में विशेषज्ञों के साथ 26 व 27 जून को बैठक कर विस्तार से चर्चा करेंगे।

उन्होंने कहा कि एक चिकित्सक होने के नाते वे खुद रिसर्च की मॉनीटरिंग करेंगे। मगर, जबतक कारण का पता नहीं चल जाता पीड़ित बच्चों की जिंदगी बचाने की पूरी कोशिश होनी चाहिए। एपीएचसी व पीएचसी स्तर पर 'इलेक्ट्रोलाइट इंबैलेंस' को नियंत्रित करने की बेहतर व्यवस्था हो। पीड़ित बच्चों का इलाज जितनी जल्दी होगा उसके बचने की संभावनाएं अधिक होगी। उन्होंने बच्चों की जिंदगी बचाने के लिए भी भरोसा जताया कि जो भी प्रयास होगा वे करेंगे।

एम्स की कमी पूरा करेगा एसकेएमसीएच- 

एसकेएमसीएच को एम्स का दर्जा दिए जाने के सवाल पर डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि अभी अस्पताल के भवन को नए सिरे से तैयार करना होगा। रिसर्च की सुविधाएं बढ़ानी होंगी। इस दिशा में यहां भवन, वॉयरोलॉजिकल लैब, मल्टीडिसीप्लीनरी रिसर्च सेंटर आदि की सुविधाएं दी जा रही हैं। इसके बाद इस बिंदु पर विचार किया जाएगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Bihar is living in diseases but the responsible playing politics
Please Wait while comments are loading...