क्‍यों अमेरिका को 'नो' कहा पाकिस्‍तान के पीएम नवाज शरीफ ने

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

न्‍यूयॉर्क। उरी आतंकी हमले के बाद से पाकिस्‍तान पर चारों ओर से दबाव बनना शुरू हो गया है। लेकिन इसके बाद भी पाक अपने ढीढ रवैये से बाज नहीं आ रहा है। सोमवार को पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने अमेरिका के विदेश सचिव जॉन कैरी से मुलाकात की।

nawaz-sharif-pakistan-nuclear-weapons

पाक नहीं करेगा खुद को नियंत्रित

इस मुलाकात में कैरी ने पीएम नवाज से अनुरोध किया कि पाक अपने परमाणु कार्यक्रम पर लगाम लगाए और पाक ने इससे साफ इंकार कर दिया।

संयुक्‍त राष्‍ट्रसंघ (यूएन) में पाक की स्‍थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी की ओर से इस बात की जानकारी दी गई है। लोधी ने बतााया कि पाक अपने परमाणु कार्यक्रम को किसी तरह से नियंत्रित नहीं करेगा।

आतंकवाद के खिलाफ पाक ने की कार्रवाई

लोधी के मुताबिक दुनिया के बाकी देशों को भारत की ओर से चलाई जा रही परमाणु हथियारों से जुड़ी गतिविधियों पर लगाम लगानी होगी। लोधी ने कहा कि कैरी के साथ मुलाकात में पाक की एनएसजी में एंट्री को लेकर भी चर्चा की गई।

वहीं पाक के विदेश सचिव एजाज चौधरी ने दावा किया कि किसी और देश ने आतंकवाद के खिलाफ इतनी सक्रिय कार्रवाई नहीं की, जितनी पाक ने की है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
US secretary of state John Kerry urged Pakistan Prime Minister Nawaz Sharif to limit Pakistan's atomic program. However PM Nawaz has said no to Kerry.
Please Wait while comments are loading...