पाकिस्तान को क्यों पालता है चीन, एक और बड़ी वजह सामने आई

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

इस्‍लामाबाद। वर्ष 2015 में जब चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग पाकिस्‍तान दौरे पर गए थे तो उन्‍होंने कहा था कि यहां आना उन्‍हें बिल्‍कुल ऐसा लगता है कि जैसे वह अपने छोटे भाई के घर आए हों।

5 हिंदुस्तानी जिन्होंने 'सर्जिकल स्ट्राइक' पर उठाए सवाल

आज जब भारत और पाकिस्‍तान के बीच युद्ध के बादल मंडरा रहे हैं तो कहीं न कहीं इस बात की भी संभावना है कि अगर जंग छिड़ी तो भारत को अप्रत्‍यक्ष तौर पर चीन से भी लड़ाई लड़नी पड़ेगी। आज चीन अपने इस 'छोटे भाई' को हथियारों की सबसे ज्‍यादा बिक्री भी करता है। 

बड़ा खुलासा: मैरीकॉम का भी हुआ था यौन उत्पीड़न, बेटों से बयां किया दर्द

pakistan-military-weapons-china

पढ़ें-पाक पीएम नवाज ने कहा भारत से युद्ध को तैयार सेना 

चीन से आते 77% हथियार

उस समय ही दुनिया को उन हथियारों की झलक देखने को मिली जिन्‍हें चीन से आयात किया गया था। अगर आप को इस बात पर थोड़ा सा भी शक है तो हम आपको बता दें कि आज पाकिस्‍तान सेना के पास 77% हथियार ऐस हैं जिन्‍हें चीन से आयात किया गया है। 

ज्‍यादा समय नहीं हुआ है जब पाक के पास 55% हथियार अमेरिका में बने होते थे। 23 मार्च 2016 में इस्‍लामाबाद में नेशनल मिलिट्री डे परेड का आयोजन हुआ था। 

पढ़ें-भारत पाकिस्‍तान सीमा पर यूएवी, बीएसएफ ने बढ़ाई चौकसी

आइए हम आपको बताते हैं कि वर्ष 2005 से पाकिस्‍तान चीन से कितने हथियार आयात कर रहा है। ये आंकड़ें सिपरी आर्म्‍स ट्रांसफर्स डाटाबेस में दर्ज हैं।

2005 में चीन से आए हथियार 

  • पाकिस्‍तान अमेरिका से 34.9 प्रतिशत हथियार आयात करता था। 
  • 46.6 प्रतिशत हथियार दूसरे देशों से आते थे। 
  • सिर्फ 18.5 प्रतिशत हथियार ऐसे थे जो चीन से आयात होते थे।

2015 में हथियारों का आयात

  • पाक ने 76.9 प्रतिशत हथियार ऐसे थे जिन्‍हें चीन से आयात किया गया था।
  • सिर्फ नौ प्रतिशत हथियारों को अमेरिका से आयात किया गया। 
  • वहीं 14.1 प्रतिशत हथियार ऐसे थे जिन्‍हें दूसरे देशों से पाक ने खरीदा था।

भारतीय रेलवे की नई सुविधा से बचेंगे रुपए और समय दोनों, जान लीजिए कैसे

पाक के पास चीन के खास हथियार

  • टाइप 56 असॉल्‍ट राइफल 
  • टाइप 81 असॉल्‍ट राइफल 
  • जेएफ-17 थंडर जेट 
  • अर्ली वॉर्निंग एंड कंट्रोल सिस्‍टम (अवॉक्‍स) 
  • डब्‍लूयजेड-10 अटैक हेलीकॉप्‍टर 
  • एमबीटी-2000 अल खालिद बैटल टैंक 
  • एचजे-8 एंटी टैंक मिसाइल

क्‍या है भारत की स्थिति

वहीं अगर भारत की बातें करें तो भारत का हथियारों के मामले में कई देशों पर निर्भर है। आज की तारीख में भारत भले ही अमेरिका से ज्‍यादा हथियार आयात कर रहा हो लेकिन रूस का सबसे बड़ा और अहम रक्षा साझीदार है।

दिलचस्‍प बात यह है कि वर्ष 2005 में अमेरिका इस तस्‍वीर या तो नहीं था या फिर उसकी मौजूदगी न के बराबर थी।

भारत की सेनाओं के पास करीब 70 प्रतिशत हथियार ऐसे हैं जो रूस में बने हैं। इजरायल, अमेरिका, रूस, यूके, और फ्रांस के अलावा कुछ और देशों से भारत हथियार आयात करता है। एक नजर डालिए हथियारों के आयात में भारत की स्थिति पर। 

पढ़ें-पाक को करारा झटका, UNSC के एजेंडे में नहीं कश्मीर मुद्दा

2005

  • भारत ने 56.2 प्रतिशत हथियार रूस से आयात किए। 
  • 21.3 प्रतिशत हथियार इजरायल में बने थे। 
  • 10.1 प्रतिशत हथियार यूके से आयात हुए। 
  • वहीं 12.4 प्रतिशत हथियार ऐसे थे जिन्‍हें दूसरे देशों से आयात किया गया।

2015

  • 63.8 प्रतिशत हथियार रूस से आयात हुए। 
  • 10.3 प्रतिशत हथियार इजरायल से आए। 
  • 9.8 प्रतिशत हथियार ऐसे थे जो अमेरिका में बने थे। 
  • 4.5 प्रतिशत हथियारों का निर्माण यूके में हुआ था। 
  • वहीं 11.6 प्रतिशत हथियार दूसरे देशों से आए थे। 
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Today 77% Pakistan arms are being imported from China.
Please Wait while comments are loading...