भारत को नीचा दिखाने के लिए पाक ने दिल्ली भेजा जूनियर अधिकारियों का दल

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। उरी आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान भारत के खिलाफ लगातार चालें चल रहा है। नई चाल के तहत पाकिस्तान ने भारत को सार्क मीटिंग में नीचा दिखाने के लिए और इस मीटिंग के महत्व को कमतर बनाने के लिए जूनियर अधिकारियों का दल दिल्ली भेज दिया है।

READ ALSO: युद्ध की आशंका के बीच पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों ने भरी उड़ान

nawaz sharif

पाकिस्तान ने भेजे जूनियर अधिकारी

दिल्ली में दक्षिण एशिया क्षेत्र में आतंक का मजबूती से मुकाबला करने के लिए सार्क देशों की दो दिवसीय उच्च स्तरीय बैठक आयोजित की गई है। इसमें भाग लेने के लिए अन्य देशों ने जहां अपने वरिष्ठ कूटनीतिक अधिकारियों को भेजा है वहीं पाकिस्तान ने इसमें काउंसलर लेवल के अधिकारियों को भेज दिया है।

भारत को नीचा दिखाने की पाक की कोशिश

उरी आतंकी हमले के बाद भारत दुनिया में आंतकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को अलग-थलग करने की कोशिशों में लगा है। उधर पाकिस्तान भी भारत के खिलाफ मुहिम चला रहा है। उरी अटैक के बाद भारत का कहना है कि आतंकी पाकिस्तान से आए थे जबकि इस्लामाबाद यह मानने को तैयार नहीं है।

आईबी चीफ कर रहे हैं मीटिंग की अध्यक्षता

सार्क की इस बैठक की अध्यक्षता भारत के इंटेलीजेंस ब्यूरो चीफ दिनेश्वर शर्मा कर रहे हैं। इस मीटिंग में सार्क के देश भारत, पाकिस्तान, नेपाल, भूटान, श्रीलंका, बांग्लादेश और मालदीव हिस्सा ले रहे हैं।

पाकिस्तानी अधिकारियों के बारे में गृह मंत्रालय का बयान

भारत के गृह मंत्रालय ने अपने एक बयान में कहा है कि सभी देशों ने इस मीटिंग में अपने टॉप डिप्लोमेट्स भेजे हैं। पाकिस्तान को भी इसमें आईबी चीफ लेवल के अधिकारियों को भेजना चाहिए था लेकिन इस्लामाबाद ने इस मीटिंग के लिए हाई कमीशन के दो अधिकारियों को भेजा है।

भारत-पाक के बीच टकराव और तनाव

यूएन में प्रधान मंत्री नवाज शरीफ के भाषण के जवाब में भारत ने पाकिस्तान को आतंकी देश कहा है जो क्षेत्र में आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए फंड देता है। भारत और पाकिस्तान के बीच टकराव और तनाव की स्थिति जारी है।

READ ALSO: धरती पर गिरनेवाला है चीन का अंतरिक्ष स्टेशन, कहां पर गिरेगा मलबा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Pakistan sent junior officials to Saarc meeting in Delhi on Thursday to snub India and lower the importance of meeting.
Please Wait while comments are loading...