उरी मामले में सिर्फ कागज का टुकड़ा मिला, सबूत नहीं- पाक

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। पाकिस्तान ने दावा किया है कि भारत ने उसके साथ जम्मू और कश्मीर स्थित उरी में भारतीय सेना के बेस कैंप पर हुए हमले के संबंध में सिर्फ जानकारी साझा की है, न कि सबूत दिए है।

uri

पाक विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने कहा कि पाकिस्तान, भारत की ओर से उरी हमले में किसी भी जांच का इंतजार करेगा।

Video: देखें कैसे सर्जिकल स्ट्राइक के लिए तैयार होते हैं सेना के जाबांज

उन्होंने कहा कि मैं सबूत और जानकारी के बीच में अंतर स्पष्ट करना चाहूंगा। उन्होंने हमसे सिर्फ एक कागज का टुकड़ा साझा किया है। पहले के मामलों में भी सिर्फ कागजों का आदान प्रदान हुआ है। हम और भी जानकारी आने का इंतजार कर रहे हैं।'

जकारिया ने कहा कि उरी हमले पर बिना स्वतंत्र जांच पाकिस्तान कोई टिप्पणी नहीं करेगा।

उन्होंने आरोप लगाया कि भारत, कश्मीर से ध्यान हटाने के लिए अपनी जमीन पर हुए आतंकी हमले खुद करा रहा है और उसका आरोप दूसरों पर मढ़ रहा है।

समझौता एक्स्प्रेस ब्लास्ट है उदाहरण

जकारिया ने कहा कि हमने हर बार देखा है कि भारत आतंकी हमलों के लिए दूसरे देशों पर दोषारोपण करता है। इसका एक उदाहरण फरवरी 2007 में हुआ समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट है।

पकड़ा गया पाक मीडिया का झूठ, पल भर में मारी पलटी

उन्होंने कहा कि बिना उकसावे के भारतीय सुरक्षा बलों ने लाइन ऑफ कंट्रोल पर उल्लंघन किया और 2 पाकिस्तानी सैनिकों को मार दिया।

कश्मीर को करते रहेंगे मदद

कश्मीर के हालात पर टिप्पणी करते हुए जकारिया ने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने प्रभावपूर्ण ढ़ंग से इस मामले को संयुक्त राष्ट्र में उठाया और विश्व समुदाय को हालात से अवगत कराया।

अनजाने में LOC पार कर गया भारतीय सैनिक,पाक को दी गई जानकारी

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान अभी भी कश्मीर को उसकी आजादी के लिए कूटनीतिक, राजनीतिक नैतिक मदद करेता रहेगा।

भारत द्वार पाक को अलग-थलग करने के मुद्दे पर जकारिया ने कहा कि पाकिस्तान भारतीय प्रधानमंत्री के बयानों से अलग-थलग हीं हो जाएगा।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Pakistan said India shared information about Uri terror attack.
Please Wait while comments are loading...