पाकिस्तान ने 'चुराया' भारत का ट्रांसजेंडर राइट्स बिल, संसद में किया पेश

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। पाकिस्तान की संसद में ट्रांसजेंडर लोगों के हकों की हिफाजत के लिए गुरुवार को एक बिल पेश किया गया। 'ट्रांसजेंडर राइट्स बिल' नाम से पेश किए गया ये बिल बिल्कुल भारत के 'ट्रांसजेंडर राइट्स बिल' की नकल है। इस बिल को भारत के ट्रांसजेंडर राइट्स बिल से हूबहू कॉपी किया गया है। इसके अलावा संविधान का एक प्रावधान भी चुराया है। पाकिस्तान के अखबार के मुताबिक भारत की संसद में पेश बिल और पाकिस्तान की संसद में पेश बिल में इतना ही फर्क है कि भारतीय संसद में पेश बिल में जहां भारत लिखा था, पाकिस्तानी संसद में पेश बिल में वहां पाकिस्तान लिखा है।

पाकिस्तान ने भारत से 'चुराया' ट्रांसडजेंडर बिल, संसद में किया पेश

पाकिस्तान में ट्रांसजेंडर समुदाय के लोग लंबे समय से अपने हकों के लिए आवाज उठा रहे हैं लेकिन उनको नजरअंदाज किया जाता रहा है और मुख्यदारा से दूर रखा जाता रहा है। लंबे अरसे बाद पाकिस्तानी संसद में ट्रांसजेंड़र राइट्स बिल पेश किया गया लेकिन अब इस बिल के भारत में पेश बिल की नकल होने की बात कहते हुए कई पाकिस्तानियों ने सवाल उठाए हैं। पाकिस्तान की वकील रुकिया समी ने सरकार से इस बिल के प्रावधानों को सार्वजनिक करने की मांग करते हुए कहा है कि पाकिस्तानी सरकार ने जो बिल संसद में पेश किया है उसे जनता के बीच भी रखा जाना चाहिए।

पाकिस्तान में सामाजिक कल्याण और ट्रांसजेंडर समुदाय के हकों के लिए काम करने वाले नदीम कशिश ने कहा है कि अगर पाकिस्तानी सरकार इस बिल को वापस नहीं लेती है तो वो कोर्ट में अपील करेंगे। पाकिस्तान के मानवाधिकार कार्यकर्ता नसीम ने कहा कि पाकिस्तान सरकार द्वारा संसद में पेश किए गए इस बिल से ट्रांसजेंडर समुदाय की मुश्किलें कम नहीं होंगी बल्कि और ज्यादा बढ़ेंगी। उन्होंने कहा कि ट्रांसजेंडर समुदाय से बात करके बिल तैयार होना चाहिए। पाकिस्तान की संसद में ट्रांसजेंडर्स के लिए कानून की मांग करने वाले एमपी हफिज अहम्दुल्लाह ने कहा कि वो भारत से कॉपी किए गए इस बिल को नहीं मानते। 

इसे भी पढ़ें- लड़के से लड़की बनी थीं अंजलि, अब फैशन वीक में बिखेरेंगी मॉडलिंग का जलवा

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
pakistan bill on transgender rights copied from india
Please Wait while comments are loading...