OROP को लेकर आत्‍महत्‍या करने वाले सैनिक को वीके सिंह ने बताया कांग्रेस का कार्यकर्ता

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। वन रैंक, वन पेंशन को लागू किए जाने की मांग को लेकर जंतर-मंतर पर आत्‍महत्‍या करने वाले राम किशन ग्रेवाल को केंद्रीय राज्‍य विदेश मंत्री वी के सिंह ने कांग्रेस का कार्यकर्ता बताया है।

vk singh

साथ ही वी के सिंह ने यह भी कहा है कि वो कांग्रेस के टिकट पर सरपंच का चुनाव लड़ चुका था। उन्‍होंने कहा कि राम किशन ग्रेवाल की आत्‍महत्‍या दुर्भाग्‍यपूर्ण हैं।

वीके सिंह ने कहा कि आत्‍महत्‍या करने वाले पूर्व सैनिक का कुछ मामला बैंक के साथ चल रहा था। उसकी आत्‍महत्‍या का ओआरओपी से कुछ भी लेना-देना नहीं है। अगर वो हमारे पास आता और तब उसे मदद न मिलती तो हमारी गलती होती।

कांग्रेस के उत्‍तर प्रदेश अध्‍यक्ष राज बब्‍बर ने केंद्रीय राज्‍य विदेश मंत्री रिटायर्ड जनरल वीके सिंह के बयान पर आश्‍चर्य व्‍य‍क्‍त करते हुए कहा कि वी के सिंह के दिमाग की जांच करवाएं जाने की जरूरत है। यह बहुत ही शर्मनाक है कि ऐसा व्‍यक्ति अपने नाम के आगे 'जनरल' लगाता है।

पूर्व आर्मी चीफ और केंद्रीय राज्य मंत्री (रिटायर्ड जनरल) वीके सिंह ने वन रैंक वन पेंशन की मांग पर आत्महत्या करने वाले पूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल पर बुधवार को भी टिप्पणी की थी। सिंह ने कहा था कि उसकी आत्महत्या के पीछे ओआरओपी को कारण बताया जा रहा है। यह कोई नहीं जानता की उसकी दिमागी हालत कैसी थी। मामले में जांच की आवश्यकता है।

बोले वीके सिंह- ये नहीं पता कि आत्महत्या करने वाले सैनिक की मानसिक दशा क्या थी?

सिंह के इस बयान पर आम आदमी पार्टी नेता कुमार विश्वास ने एक ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा था कि 'और आप जो रेवाडी में OROP के नाम पर पूर्व सैनिकों को जुटाकर चुनाव से 1 माह पहले पार्टी में घुसकर मंत्री बन गए वो भिंडी के बीज कलैक्शन के लिए?'

क्‍या है #OROP, जिसके लिए 40 वर्षों से संघर्ष कर रहे हैं सैनिक

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
He was a Congress worker and who fought Sarpanch election on Congress ticket. His suicide is unfortunate: VK Singh on Ex-serviceman suicide
Please Wait while comments are loading...