टीचर मां ने बेटी संग की खुदकुशी, सुसाइड नोट में किया 'गंदे इंसान' का जिक्र

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नजफगढ़। दिल्‍ली के नजफगढ़ इलाके में सरकारी स्कूल की टीचर व उसकी बेटी ने घर के पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने तीन पन्‍नों का सुसाइड लेटर बरामद किया है जिसे लिखने के बाद दीवार पर चिपकाया गया था। हालांकि पुलिस ने सुसाइड नोट में मौत की क्या वजह बताई गई है, इस बारे में खुलासा नहीं किया है लेकिन इतना जरुर कहा है कि मृतक महिला डिप्रेशन में थी।

यहां बलात्कारियों को बना दिया जाएगा नपुंसक, शरीर में डाले जाएंगे महिलाओं के हार्मोन्स 

Government school teacher, daughter commit suicide in Najafgarh

महिला का पति भी सरकारी स्‍कूल में टीचर है। जानकारी के मुताबिक महिला का नाम अनीता था और उसकी बेटी का नाम सिया था। सिया 12वीं की छात्रा थी। घटना के वक्त महिला का पति सतपाल और बेटा आदित्य जयपुर गए हुए थे। रविवार की रात सतपाने जयपुर से फोन किया था लेकिन किसी ने उठाया नहीं। सतपाल को ऐसा लगा कि सभी सो गए होंगे इसलिए उसने दोबारा फोन नहीं किया।

सोमवार की सुबह सतपाल ने दोबारा फोन किया। जब फिर किसी ने फोन नहीं उठाया तो सतपाल ने अपने परिजनों को फोन कर घर जाकर देखने को कहा। सतपाल का भाई घर पहुंचा तो उसने देखा कि बेटी और उसकी मां पंखे से लटकी हुई थी। जिसके बाद तुरंत पुलिस को सूचना दी गई। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

अनीता ने क्‍या लिखा है सुसाइड नोट में

सुसाइड नोट में अनीता लिखती है कि,"मेरी मासूम बेटी खत्म हो गई अब कोई गंदा इंसान यह नहीं कहेगा कि वो काम नहीं करवाती, वो भगवान के पास चली गई वही उसका घर है। मेरी प्यारी बच्ची मैं कमाकर भी तुम्हे कुछ नहीं दे पाई। अपनी मरी बच्ची को गले लगाकर खूब प्यार किया। मेरी बेटी का इज्जत से अंतिम संस्कार करना। मैं चाहती हूं कि गुड्डा और उसके पापा यह न देखें, क्रूर दृश्य। पहले ही हमारा दाह संस्कार कर देना। सबको नमस्ते"।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A 48-year-old government school teacher and her 18 year-old daughter committed suicide here by hanging themselves, police said.
Please Wait while comments are loading...