पूर्व सैनिक के परिवार को दिल्ली पुलिस ने किया रिहा, कहा हमने किसी को मिलने से नहीं रोका

दिल्ली पुलिस ने कहा कि अस्पताल के कामकाज को प्रभावित करने की वजह से राजनेताओं को हिरासत में लिया गया।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। पूर्व सैनिक राम किशन अग्रवाल के खुदकुशी के बाद आज पूरे दिन राजनीतिक पार्टियों का ड्रामा चलता रहा। दिल्ली पुलिस ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, दिल्ली के मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया समेत पूर्व सैनिक के बेटे को भी हिरासत में ले लिया।

delhi police

हलांकि थोड़ी देर बाद बारी-बारी से सबको रिहा कर दिया गया। जहां इस पूरे मामले पर विरोधी दल केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं तो वहीं दिल्ली पुलिस अपनी सफाई पेश कर रही है। दिल्ली पुलिस ने कहा कि उन्होंने किसी भी राजनीतिक दल के नेता को राम किशन के परिवार से मिलने से नहीं रोका। उन्होंने अस्पताल में मेडिकल सुविधाएं प्रभावित न हो, बस इसका ध्यान रखा है।

दिल्ली पुलिस ने कहा कि उनके पास लिखित शिकायत दर्ज कराई गई कि अस्पताल में राजनीतिक नेताओं के जमा होने की वजह से परेशानी हो रही है, जिसके बाद उन्होंने नेताओं को वहां से हटने को कहा, लेकिन जब नहीं माने तो उन्हें मजबूरी में हिरासत में लेना पड़ा।

वही इस पूरे मामले पर राहुल गांधी ने कहा है कि प्रधानमंत्री को पूर्व सैनिक क परिवार से फौरन माफी मांगनी चाहिए। वहीं रिहा होने के बाद मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने राजनेताओं से संपर्क करने की वजह से राम किशन के परिवार को बंधक बनाया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Delhi Police said in Ex Service man suicide that We didn't stop anyone from meeting the family, our concern was just that medical services shouldn't get hampered.
Please Wait while comments are loading...