फेसबुक पर लगाई मुख्‍यमंत्री से गुहार, कहा-मुझे और मेरे परिवार को जान का खतरा

केंद्र सरकार में कार्यरत एक महिला कर्मचारी ने हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से गुहार लगाते हुए कहा कि मुझे पुलिस मुझे तंग कर रही है।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। केंद्र सरकार में कार्यरत एक महिला कर्मचारी ने हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से गुहार लगाते हुए कहा कि मुझे पुलिस मुझे तंग कर रही है, मुझे और मेरे परिवार को जान का खतरा है।

Geeta

केंद्र सरकार में कार्यरत सरकारी महिला कर्मचारी गीता यथार्थ ने इस बाबत एक पूरी फेसबुक पोस्‍ट लिखी है। इस पोस्‍ट में उन्‍होंने लिखा है कि अपने पति के खिलाफ दहेज, उत्पीडन व अन्य मामलों में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। पर पुलिस उसपर कार्रवाई नहीं कर रही है। गीता यथार्थ की उस फेसबुक पोस्‍ट को हम जस का तस आपके सामने रख रहे हैं।

पूरा पोस्‍ट नीचे दी जा रही है

अटेंशन
सब लोग प्लीज़ ध्यान दे.

मेरे दोस्तों के पास पुलिस महिला थाना, गुडगाँव से फोन आ रहा हैं। मुझसे फ़ोन पर बात करने वाले लोगों से सबसे पूछताछ की जा रही हैं. मुझे नहीं पता मैंने क्या क्राइम किया हैं. ऐसा क्यों किया जा रहा हैं.
आप लोग डरना मत. अब तक 3 लोगों से पूछताछ की जा चुकी हैं. एक पति के पूर्व ड्राइवर और उसकी पत्नी से. दूसरा मेरी सर्विस में काम करने वाले जयकिशन जी से. मेरी कुछ सहेलियां गाँव की हैं जो पुलिस के नाम से ही घबरा जाती हैं.
सबसे पूछा जा रहा हैं, इस लड़की को कबसे जानते हो, क्या बात करते हो, क्यों करते हो, ....... दोस्तों को थाना, गुडगाँव आने को कहा जा रहा है. आपकी बातों को रिकॉर्ड किया जाता हैं.
कल को मैसेंजर या फेसबुक पर बात करने वालों से भी पूछताछ की जा सकती हैं.
देश के कोने कोने से लोग गुडगाँव कैसे आएंगे...!!?
मामला ये है-
मैंने मेरे पति के खिलाफ महिला पुलिस थाना गुडगाँव में दहेज़, उत्पीडन व् अन्य मामलों में एप्लीकेशन दी थी. 17.09 .2016 को. नंबर-574-5 P II / 17.09.16.
जब मैं थाने में केस का स्टेटस पता करने जाती हूँ तो मुझे धमका कर भगा दिया जाता हैं. कहते हैं और बहुत काम हैं, अकेले आपकी एप्लिकेशन नही हैं.
मैंने तीन दिन पहले DCP साहब को एप्लीकेशन दी हैं, वर्तमान ACP और केस की I.O. को बदलवाने के लिए. इसी के लिए CM विंडो पर भी गुहार लगाई हैं.
मैंने पहले कभी नहीं सुना- पति के खिलाफ दहेज़, उत्पीडन व् अन्य मामले में एप्लीकेशन देने पर पत्नी के दोस्तों-रिश्तेदारों को ऐसे तंग किया जाता हो.
मेरा पति, देवेंद्र सिंह , हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन (HSSC) का मेंबर हैं. शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा जी के खास आदमी हैं. घरेलु आना-जाना हैं. सास ससुर नहीं हैं मुझे, इसलिए मंत्री जी, उसके छोटे भाई राजू जी और उनकी पत्नी सास-ससुर की जगह माने जाते रहे हैं.
( मैं कोई आतंकवादी नहीं हूं, केंद्र सरकार की कर्मचारी हूँ. पुलिस वेरिफिकेशन करके सरकार नौकरी लगाती हैं. हरियाणा पुलिस को मेरे बारें में ज्यादा जानना हैं तो केंद्र सरकार से क्यों नहीं पूछ लेती. )
(इसलिए बता रही हूँ के आप डरे न. और किसी और के पास फ़ोन आये तो मुझे सूचना दे.)
CMO Haryana माननीय मुख्यमंत्री जी
आप खुद इस मामले में संज्ञान ले, क्योकि कुछ लोगों के नाम मैंने डर के मारे एप्लीकेशन में नहीं लिखे, उनमें से एक आपके OSD भी हैं. कृपया मिलने का समय दे, व्यक्तिगत तौर पर मिलकर सबकुछ बताना चाहती हूँ.
यथार्थ, जबसे एक महीने का भी नहीं हुआ था, तबसे मुझे पुलिस द्वारा तंग किया जा रहा हैं. मुझे और मेरे परिवार को जान का खतरा हैं.

 

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
central government women employee seek protection for family and herself
Please Wait while comments are loading...