बेटा नहीं पैदा करने पर पत्नी को घर से निकाला, सेरोगेसी की मदद से पैदा किया वारिस

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मुंबई। देश कितनी भी तरक्की कर ले, लेकिन आज भी ऐसे लोगों की कमी नहीं, जो बेटे और बेटियों में फर्क करते हो। मायानगर मुंबई में भी ऐसा ही एक मामला सामने आया है, जहां एक पत्नी ने अपने पति पर बेटे को जन्म न देने पर घर से निकालने और बिना उसकी सहमति के सेरोगेट बच्चे को पाने का आरोप लगाया है।

 Wife alleges hubby did not consult her for surrogate child

दो बेटियों की मां ने अपने पति पर आरोप लगाते हुए पुलिस में मामला दर्ज करवाया है। महिला ने अपनी शिकायत में कहा है कि बेटा पैदा नहीं कर पाने और लिंग परीक्षण से इंकार करने पर उसके पति ने उसे अप ने घर से निकाल दिया। जिसके बाद उसने अपने पति के खिलाफ अक्टूबर 2016 में घरेलू हिंसा का मामला दर्ज करवाया।

महिला ने आरोप लगाया है कि उसके पति ने उसे न केवल अपने घर से निकाल दिया बल्कि बिना उसकी सहमति से सेरोगेसी के जरिए बेटे के पिता बने। महिला ने मुलुंड पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई कि उसके पति ने बिना उसे बताए और बिना किसी समझौते के सेरोगेसी के जरिए दूसरी महिला से बेटे का जन्म करवाया। ऐसा इसलिए क्योंकि वो बेटे को जन्म नहीं दे पाई। उसके पति ने गर्भावस्था के दौरान उससे लिंग परीक्षण के लिए कहा, लेकिन उनसे मना कर दिया। महिला के पति ने इन आरोपों पर चुप्पी साध रखी है। वहीं अब पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The woman complained that she was thrown out of home because she couldn’t deliver a male child and refused to go for sex-determination test.
Please Wait while comments are loading...