महाराष्ट्र सरकार के टॉप अफसर की असंवेदनशीलता ने ली एक बेटे की जान

Subscribe to Oneindia Hindi

मुंबई महाराष्ट्र सरकार के एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट के एक सीनियर अधिकारी की असंवेदनशीलता की वजह से जूनियर अधिकारी को अपना बेटा खोना पड़ा। एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट में एडिशनल चीफ सेक्रेटरी भगवान सहाय ने अपने मातहत अधिकारी राजेंद्र घाडगे को घर जाने की छुट्टी नहीं दी जिस वजह से डिप्रेशन के शिकार उनके बेटे ने खुदकुशी कर ली।

READ ALSO: पूरे सोने का नहीं होता गोल्ड मेडल, जानिए कितनी होती है कीमत

इस मामले पर जब हंगामा खड़ा हुआ तब सरकार ने सहाय को जिम्मेदारियों से मुक्त कर डिपार्टमेंट से फिलहाल हटा दिया है और उनके खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं।

mumbai suicide

'पापा जल्दी घर पहुंचो, वरना सुसाइड कर लूंगा'

इस मामले में पीड़ित एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट के ज्वाइंट सेक्रेटरी राजेश घाडगे का कहना है कि 12 अगस्त की दोपहर में उनके बेटे का फोन आया जो डिप्रेशन का शिकार था। बेटे ने कहा कि जल्दी घर पहुंचो वरना सुसाइड कर लूंगा।

पापा घर नहीं पहुंचे तो कर लिया सुसाइड

घाडगे ने अपने सीनियर अधिकारी भगवान सहाय से घर जल्दी जाने के लिए हाफ डे लीव मांगा लेकिन सहाय ने इंकार कर दिया और फुल डे काम करने को कहा। इसके बाद घाडगे के पास उनके बेटे का दोबारा फोन आया। उन्होंने फिर सहाय से घर जाने देने की गुहार लगाई लेकिन सहाय ने छुट्टी नहीं दी। घाडगे जब तक घर पहुंचे तब तक उनका बेटा आत्महत्या कर चुका था।

READ ALSO: आप का ख्वाब छोड़ सिद्धू कर सकते हैं भाजपा में 'घर वापसी''

मामले की तरफ सीएम और एग्रीकल्चर मिनिस्टर का गया ध्यान

इस घटना के बाद एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट में हंगामा खड़ा हो गया। एडिशनल चीफ सेक्रेटरी के खिलाफ कर्मचारी गोलबंद होकर उनको डिपार्टमेंट से हटाने और घटना की जांच की मांग करने लगे। हंगामा इतना बड़ा हुआ कि इस मामले में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस और एग्रीकल्चर मिनिस्टर पांडुरंग फुंडकर को हस्तक्षेप करना पड़ा।

घटना के बाद आरोपी अफसर के खिलाफ कार्रवाई

एग्रीकल्चल मिनिस्टर ने एडिशनल चीफ सेक्रेटरी भगवान सहाय के खिलाफ डिपार्टमेंटल जांच के आदेश दिए हैं। उनको पद की जिम्मेदारियों से मुक्त कर जांच पूरी होने तक डिपार्टमेंट से हटा दिया गया है। भगवान सहाय के पद की सारी जिम्मेदारी फाइनांस के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी डीके जैन को सौंप दी गई है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Additional chief secretary Bhagwan Sahay in Maharashtra agriculture department denied leave to his junior whose son suicided after that.
Please Wait while comments are loading...