सगी बहनों की कोर्ट से अपील, हम वेश्याएं नहीं है, हमें हमारे मां-बाप से बचाओ

23 साल की शिवांगी और 21 साल की समीरा ने मलाड में अपने मां-बाप का घर छोड़कर बॉम्बे हाईकोर्ट तक प्रदर्शन कर न्याय मांगा है।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मुंबई। मुंबई के मलाड में दो बहनों की हाईकोर्ट से उनके मां-बाप से बचाने की अपील चर्चा का विषय बनी है। दोनों बहनों ने हाथ में एक तख्ती लेकर प्रदर्शन किया, जिस पर लिखा है कि ना वो वेश्यावृति करती हैं और ना ही ड्रग्स लेती हैं। उन्हें उनके मां-बाप से बचाया जाए।

दो बहनों की कोर्ट से अपील, हम वेश्याएं कोई नहीं हमें हमारे मां-बाप से बचाओ

23 साल की शिवांगी और 21 साल की समीरा ने मलाड में अपने मां-बाप का घर छोड़कर बॉम्बे हाईकोर्ट तक प्रदर्शन कर न्याय मांगा है। डीएनए की खबर के मुताबिक, दोनों बहनों को दिसंबर में उनके माता-पिता ने घर में बंद कर दिया था। उन्हें पुलिस ने छुड़ाया था, जब दोनों बहनों ने इसकी एफआईआर करनी चाही तो पुलिस ने मामले को टरका दिया। लड़कियों का आरोप है, कि माता-पिता उन्हे तंग करते हैं और आजादी से नहीं रहने देते।

पुलिस को लड़की के माता-पिता ने बताया था कि दोनों बहनों के एक सेक्स रेकैट चलाने वाले के साथ संबंध हैं। जिसके बाद उनको घर में बंद किया गया। वहीं दोनों बहनों का कहना है कि वो आजाद जिंदगी जीना चाहती हैं, उन पर लगाए आरोप गलत हैं। ऐसे में उन्हें कोर्ट न्याय दे। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। बॉम्बे हाईकोर्ट ने इस पर एक पीआईएल की सुनवाई करते हुए पुलिस को गंभीरता से मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

"मर्द मुझसे उत्तेजित होते हैं तो सरकार फैसला करे, औरतें कहने वाली कौन होती है"

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mumbai sisters ask HC to save them from parents
Please Wait while comments are loading...