मुंबई: झूठी निकली चमड़े का बैग रखने पर धमकी की घटना, इसलिए बुनी झूठी कहानी

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। आपको याद होगा कि अगस्त के महीने में एक मामला सामने आया था जिसमें बरुण कश्यप नाम के शख्स ने दावा किया था वो चमड़े का बैग लेकर जा रहा था, तो उसके बैग को गाय के चमड़े का बैग समझ कर कुछ लोगों ने उससे मारपीट करने की कोशिश की थी। मामला महाराष्ट्र स्थित मुंबई का था। हालांकि वो बच गया था।

arrest

 ये सारी बाते बरुण ने अपने फेसबुक वॉल पर लिखी थी।

लेकिन पुलिस की जांच में यह सारी बात झूठ निकली और बरुण पर ही आप मामला दर्ज कर दिया गया है। दरअसल बरुण कश्यप नाम के इस शख्स ने पूरी कहानी खुद ही बनाई थी।

दादरी हत्याकाण्ड में आरोपी की न्यायिक हिरासत में मौत, पिटाई का आरोप

दफ्तर पहुंचा था लेट इसलिए गढ़ दी कहानी

पुलिस की ओर से की जांच में यह पाया गया है कि वो उस दिन अपने दफ्तर लेट पहुंचा था इसलिए यह कहानी गढ़ दी। इतना ही नहीं उसे फेसबुक पर भी पोस्ट कर दिया।

स्ट्राइक पर उठ रहे सवालों पर बोले राजनाथ- मैंने ऐसा कोई बयान नहीं पढ़ा

बरुण को भारतीय दण्ड संहिता की धारा 153 ए, 182 बी, 505 एबी के अंतर्गत गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस ने बताया कि जिस ड्राइवर का जिक्र बरुण ने अपनी पोस्ट में किया है उसे भी जांच के लिए बुलाया था लेकिन इस मामले से उसका कोई लेना देना था ही नहीं जिसके चलते उसे तुरंत छोड़ दिया गया।

बता दें कि एक प्रोडक्शन हाउस में बतौर क्रिएटिव डायरेक्टर काम करने वाले बरुण ने अपने फेसबुक पोस्‍ट में इस घटना का जिक्र किया था।

50 रुपए के लिए किया सौतेली मां की पीट-पीट कर मार डाला

फेसबुक पर ये लिखा था बरुण ने

बरुण ने लिखा था कि 'मैं आटो से काम पर जा रहा था। मेरे लंबे बालों और नाक में छेद देख कर ऑटो वाले को शुरू से ही मुझ पर संदेह हुआ और वह मुझे पूछताछ करने लगा। फिर उसने ट्रैफिक सिग्‍नल पर ऑटो रोका और मेरे चमड़े के थले को देखने लगा।'

Google ने लॉन्च किया ये नया फोन, 15 मिनट में होगा चार्ज

बरुण ने लिखा था कि फिर चालक ने उनका बैग छुआ और कहा कि यह गाय के चमड़े से बना है।

बरुण ने ऑटो चालक को कहा था कि यह ऊंट के चमडे का बना है और इसे मैंने पुष्‍कर मेले से खरीदा था। बरुण के मुतबिक इस जवाब से ऑटो चालक संतुष्‍ट नहीं हुआ और रास्‍ते में एक मंदिर के सामने ऑटो रोक दिया।

आज तो बच गया...

बरुण ने लिखा था कि 'ऑटो से उतरकर चालक मंदिर में गया और वहां से तीन लोगों को बुलाकर ले आया। बतौर बरुण उसको मराठी नहीं आती तो वो उन लोगों की बात समझ नहीं पाए।

तीनों लोगों ने बरुण का पूरा नाम पूछा और बैग की पूरी तरह से छानबीन की। तसल्‍ली होने के बाद उन लोगों ने जाने को कहा।

फिलीपीन्स के राष्ट्रपति ने बराक ओबामा को कहा- नरक में जाओ

बरुण ने लिखा था कि जब वो ऑटो का नंबर नोट करने लगे तो उन लोगों ने धमकी दी कि आज तो बच गया, आगे नहीं बच पाएगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Barun kashyap of mumbai held for false complaint of harassment by gau rakshak.
Please Wait while comments are loading...