मेरठ में कर्ज के बोझ तले परिवार के पांच लोगों ने की आत्महत्या

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मेरठ। कर्ज के बोझ तले मेरठ के पूरे परिवार ने एक साथ फांसी लगा ली। परिवार के पांच सदस्यों के आत्महत्या से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया है।

suicide

बॉस करता था अश्लील बातें, महिला ने कर ली खुदकुशी

जिन लोगों ने आत्महत्या की है उसमें 2 महिलाएं भी शामिल हैं। परिवार के चार लोगों का शव घर के भीतर रस्सी पर लटका हुआ था जबकि एक शव घर में बिस्तर पर पड़ा मिला।

आलू की फैक्ट्री बनी राहुल गांधी के लिए जी का जंजाल

स्थानीय लोगों को इस बात की जानकारी तब मिली जब घर से किसी भी तरह की गतिविधि नहीं हो रही थी, जब लोगों ने घर के भीतर देखा तो लोगों के शव रस्सी पर लटक रहे थे। जिसके बाद लोगों ने पुलिस को जानकारी दी।

पांच कैदी फरार, एसएसपी साहब ने दरोगा और सिपाही को भेजा दिया जेल

जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने घर का दरवाजा तोड़ा और घर के भीतर से सुसाइड नोट बरामद किया है। जिसमें लिखा था कि परिवार के सभी सदस्यों ने सोच-विचार के यह कदम उठाया है, हमारे पास कोई और रास्ता नहीं बचा था।

अमित शाह पर सिब्बल का पलटवार- जो खुद हत्यारे हैं वो क्या खोट बताएंगे

मेरठ के टीपी नगर इलाके में रघुकुल विहार कॉलोनी में रहने वाले मोहन अरोड़ा स्पेयर पार्ट का बिजनेस करते थे। परिवार पर तकरीबन डेढ़ करोड़ रुपए का कर्ज था जिसके चलते परिवार ने यह कदम उठाया।

मोहल्ले के लोगों ने बताया कि अरोड़ा जी की घर में पत्नी कृष्णा, बेटा विनीत, बहू पूजा और पोता अभिषेक थे जिन लोगों ने आत्महत्या कर ली। परिवार को चार लोगों का शव रस्सी से लटका था जबकि मोहन अरोड़ा का शव जमीन पर पड़ा था।

यहां गौर करने वाली बात यह है कि जिन लोगों के शव रस्सी पर लटके थे उनकी हाथ की नसे भी कटी हुई थी और खून बह रहा था।

हालांकि पुलिस ने इस बारे में कोई जानकारी देने से इनकार किया है। माना जा रहा है किसी ने हत्या को आत्महत्या का नाम देने की कोशिश की है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
5 members of one family committed suicide in Meerut . Suicide note suggests their were in high debt and they were left with no option.
Please Wait while comments are loading...