MP में कुश्ती के खिलाड़ियों से किया गया इतना गंदा व्यवहार!

Subscribe to Oneindia Hindi

ग्वालियर। जब कभी अंतरराष्ट्रीय या राष्ट्रीय स्तर पर कोई खेल का आयोजन होता है तो हमें अपने खिलाड़ियों से गोल्ड मेडल से कम की उम्मीद नहीं होती।

यहां तक कि सरकारें भी कहती हैं कि वो खिलाड़ियों को बेहतर सेवा और सुविधा देने के लिए तत्पर हैं। लेकिन मध्य प्रदेश के ग्वालियर में जो हुआ वो शर्मनाक है।

बता दें कि पुणे में नेशनल कुश्ती के लिए तैयारी करने केलिए प्रदेश के 7 पहलवान प्री कैंप के लिए मध्य प्रदेश स्थित दतिया आए थे। लेकिन वो यहां खिलाड़ियों के लिए इंतजाम देख कर वो वापस चले गए।

madhya-pradesh

रिंग की असली सुल्तान: भारतीय बेटी ने कुश्ती में पुरुष प्रतिद्वंद्वी को दी मात

ना खाने, ना सोने की सुविधा

हालात ये रही कि कुश्ती खेलने वाले इन पहलवानों ना ढ़ंग का खाना दिया गया,ना ही सोने की सुविधा। इतना ही पहलवानों को शौच के लिए खुले और नहाने के लिए हैडपैंप का इस्तेमाल करना पड़ा।

भोपाल जेल ब्रेक: शहीद रमाशंकर की बेटी की शादी में पहुंचे शिवराज, गिफ्ट में दिया अपॉइंटमेंट लेटर

बताया गया कि 13 दिसबंर तक के लिए चलने वाले इस प्री कैंप में 20 पहलवानों को आना था लेकन केवल 6 लड़के और 1 लड़की ही आए।

खिलाड़ियों के सोने के लिए फर्श पर टेंट से मंगाई चादर बिछा दी गई जिसकी वजह से खिलाड़ियों को पूरी रात ठंड लगी और उन्हें काफी दिक्कत हुई।

नहीं माना प्रशासन

इस मसले पर प्रशासन का कहना है कि ऐसे कैंप लगने पर खिलाड़ियों के रुकने का इंतजाम स्कूलों में ही किया जाता है, साथ ही कहा कि स्कूल में पानी और शौचालय की सुविधा मौजूद थी।

दस्यु सुंदरी ने शिवराज को दी धमकी, न्याय नहीं मिला तो फिर उठा लूंगी बंदूक और...

वहीं एक खिलाड़ी के मुताबिक कैंप में ना तो सोने की सही व्यवस्था थी, ना खाने पीने की। हम आरओ का पानी पीते हैं। हमें खुला पानी दे दिया गया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Wrestlers go toilet in open, slept on floor in Madhya Pradesh's Datia
Please Wait while comments are loading...