VIDEO: मध्य प्रदेश में 500 की नोट देने पर नहीं दिया राशन तो गांव वालों ने लूट ली दुकान

500 और 1,000 की नोट अवैध घोषित होने से हालात अब खराब हो रही है।

Subscribe to Oneindia Hindi

छतरपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की थी कि 500 और 1,000 की करेंसी 8 नवंबर की अर्धरात्रि के बाद से अवैध घोषित हो जाएंगे। इसके बाद से ही देश में अफरातफरी का माहौल शुरू हो गया। बैंक और एटीएम पर लाइन तो दिखी ही रही है लेकिन अब हालात लूट खसोट तक पहुंच चुके हैं।

NOTE

मध्य प्रदेश स्थित छतरपुर जिले में कुछ ऐसा हुआ जिसका किसी को अंदाजा नहीं था।

यहां के बमीठा स्थित झमटुली गांव में लोगों को 100 का नोट नहीं मिल रहा था जिसके चलते लोग दाने-दाने को मोहताज होने लगे थे।

नोट बदलवाने लाइन में लगे राहुल तो सोशल मीडिया पर बने चुटकुले

जब खरीदने गए राशन

बताया गया कि शुक्रवार सुबह सरकारी राशन के वितरक मुन्नी लाल ने दुकान खोली तुरंत गांव के लोग 500 और 1,000 के नोट लेकर राशन खरीदने गए।

मैसूर में छपे थे 500 और 2000 के नोट, इटली, जर्मनी और लंदन से आया था कागज

लेकिन वितरक ने राशन देने से इनकार कर दिया। इस पर दुकान में रखा करीब 100 किलो गेंहू और चावल ग्रामीण लूट ले गए।

वहीं वितरक मुन्नी लाल का आरोप है कि ग्रामीणों ने यह काम सरपंच नोने लाल की शह पर किया है।

दर्ज कराई गई शिकायत

बकौल मुन्नी लाल उन्होंने बमीठा थाने में सरपंच और ग्रामीणों के खिलाफ खाद्यान लूटने की शिकायत दर्ज कराई है।

सावधान! नोट बदलने के चक्कर में कहीं आपसे भी न हो जाए ये गलती

वहीं इस मामले में खुद को आरोपी बनाए जाने पर कहा है कि उनका कोई दोष नहीं है। वितरक मुन्नी लाल ने ही तीन माह से ज्यादा हो जाने पर भी ग्रामीणों में खाद्यान नहीं बांटा था जिसके चलते लोग परेशान थे।

यहां देखें घटना का वीडियो

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
villagers looted ration shop in chatarpur madhya pradesh
Please Wait while comments are loading...