सहेली के साथ गैंगरेप से सबक लेकर बहू ने किया ऐसा काम, आप करेंगे सलाम

गांव की बहू ने हर घर में शौचालय बनवाने का लिया संकल्प। घर-घर नंगे पांव जाकर चला रही मुहिम।

Subscribe to Oneindia Hindi

भिंड मध्य प्रदेश में भिंड जिले के गांव की एक बहू ने संकल्प लिया है कि जब तक हर घर में टॉयलेट नहीं बन जाएगा तब तक वह पैरों में चप्पल नहीं पहनेंगी। उनके इस कदम की आसपास के इलाकों में काफी चर्चा है और लोग उनकी सराहना कर रहे हैं।

Read Also:पति के शव के पास मुस्कुराते हुए महिला ने खिंचवाई तस्वीर

bhind sapna tomar

पहले ससुराल में टॉयलेट बनवाने के लिए किया संघर्ष

सपना तोमर की शादी भिंड के गुंगावली गांव में उदय प्रताप से हुई है। जब वह ससुराल आई थी तो घर में टॉयलेट नहीं था। घर के सभी लोग शौच के लिए बाहर जाते थे। सपना को यह मंजूर नहीं था।

उन्होंने अपने ससुराल में टॉयलेट बनवाने को कहा तो पहले उसकी बात नहीं मानी गई। सपना का कहना है कि बहुत कहासुनी के बाद घर में टॉयलेट बना।

अब गांव के हर घर में टॉयलेट बनवाने का संकल्प?

सपना तोमर अब अपने गांव के हर घर में टॉयलेट चाहती हैं। उनकी यह मुहिम अपने घर से शुरू हुई लेकिन अब इसे वह एक कदम आगे लेकर चली गई हैं।

सपना ने संकल्प लिया है कि जब तक गांववाले अपने घरों में शौचालय नहीं बनवाते तब तक वह नंगे पांव रहेंगी। सपना घर-घर नंगे पांव जाकर लोगों से टॉयलेट बनवाने की अपील कर रही हैं।

उनके इस सत्याग्रह का असर हुआ है और अब गांव वाले अपने घरों में टॉयलेट बनवा रहे हैं। सपना के इस प्रयास से गांव के 315 घरों में से लगभग 140 घरों में टॉयलेट बन चुके हैं। सपना के पति उदय प्रताप उनका साथ दे रहे हैं।

जिले की ब्रांड एंबेसडर बनीं सपना

सपना की इस मुहिम की चर्चा जब इलाके में फैली तो जिला पंचायत ने उनको गांवों में स्वच्छता अभियान के लिए ब्रांड एंबेसडर के तौर पर चुन लिया। सपना के इस काम को सब लोग सलाम कर रहे हैं।

कहां से आया सपना में टॉयलेट बनवाने का जज्बा?

इस सवाल के जवाब में सपना अपनी जिंदगी की एक दुखद घटना के बारे में बताती हैं। भिंड से सटे राजस्थान के धौलपुर जिले के नुनहेरा गांव में उनकी सहेली शौचालय के लिए बाहर गई थी तब गांव के ही दो लोगों ने उसके साथ गैंगरेप किया।

सपना बताती हैं कि उनकी सहेली ने इस घटना के बारे में परिजनों को नहीं बताया और उसने फिनाइल पीकर जान दे दी।

सपना ने कहा, 'मेरी दोस्त की जान नहीं जाती अगर उसके घर में टॉयलेट होता। इसलिए मैंने यह संकल्प लिया है।'

Read Also:कानपुर की महिला ने 'मंगलसूत्र' बेचकर बनवाया शौचालय

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In a village of Bhind district, Sapna Tomar has vowed not to wear slippers until every house have toilet.
Please Wait while comments are loading...