एटीएस चीफ का खुलासा: एनकाउंटर के वक्त निहत्थे थे आरोपी

संजीव शमी ने कहा कि वो शुरू से ही ये कह रहे हैं कि एनकाउंटर में मारे गए आतंकियों के पास हथियार नहीं थे। पहले दिन से वो ये बात कह रहे हैं।

Subscribe to Oneindia Hindi

भोपाल। सिमी के आठ आतंकियों के एनकाउंटर को लेकर जारी विवाद गहराता जा रहा है। इस बीच मध्य प्रदेश के एंटी टेरर स्क्वैड के प्रमुख ने कहा है कि जब इन आतंकियों को मारा गया इनके पास हथियार नहीं थे।

सीएम शिवराज ने संभाला मोर्चा, भोपाल जेल का किया निरीक्षण

एंटी टेरर स्क्वैड के प्रमुख संजीव शर्मा का बड़ा बयान

एंटी टेरर स्क्वैड के प्रमुख संजीव शमी ने बताया कि कानून में इस बात का जिक्र है कि पुलिस को कब बल प्रयोग करना है और कब किसी को मारना है।

सिमी आतंकियों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई, पढ़िए क्या है इसमें

एनडीटीवी से खास बातचीत में उन्होंने कहा कि मारे गए सभी लोग अपराधियों से भी ज्यादा खतरनाक थे। अगर इन्हें पकड़ने की थोड़ी संभावनाएं लगती तो ज्यादा से ज्यादा पुलिस बल के जरिए इन्हें पकड़ने की कोशिश की जाती।

भोपाल जेल ब्रेक‍-एनकाउंटर केस: एनआईए जांच से पीछे हटी सरकार

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने जारी किया है नोटिस

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने सिमी आतंकियों के एनकाउंटर को लेकर राज्य सरकार और मध्य प्रदेश पुलिस से जवाब मांगा है।

बता दें भोपाल जेल से भागने के बाद पुलिस ने सिमी आतंकियों का एनकाउंटर किया, इस एनकाउंटर के समय का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ। जिसके बाद एनकाउंटर को लेकर सवाल उठाए गए।

एनकाउंटर को लेकर विपक्ष ने मध्य प्रदेश सरकार को घेरा

सोशल मीडिया में वायरल हो रहे वीडियो में नजर आया कि सभी आतंकी निहत्थे हैं और एक पहाड़ी पर खड़े नजर आ रहे हैं।

वीडियो में वो पुलिस से दूर नजर आ रहे हैं लेकिन उनको जो गोलियां लगी हैं उससे लग रहा है कि गोलियां बेहद पास से मारी गई हैं। इसी को लेकर विपक्ष ने मध्य प्रदेश सरकार को घेरा है।

मध्य प्रदेश एंटी टेरर स्क्वैड के प्रमुख का बयान और पुलिस का बयान अलग-अलग

मध्य प्रदेश एंटी टेरर स्क्वैड के प्रमुख संजीव शमी के बयान प्रदेश के दूसरे अधिकारियों और मध्य प्रदेश के गृहमंत्री भूपिंदर सिंह के बयान से मेल नहीं खा रहे हैं।

मध्य प्रदेश के पुलिस अधिकारियों और प्रदेश के गृहमंत्री के मुताबिक जब ये आतंकी जेल से भागे थे तो इनके पास हथियार नहीं थे। लेकिन बाद में उनको हथियार सप्लाई की गई।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में भी कई अहम खुलासे

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक एनकाउंटर के बाद उनके पास से चार देश में बने पिस्टल मिले थे।

इस बीच सिमी आतंकियों की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक आतंकियों के सिर, गले, पैर और कमर में गोलियां मारी गई हैं। फिलहाल फॉरेंसिक एक्सपर्ट इस बात की जांच कर रहे हैं पुलिस ने कितनी दूरी से इन आतंकियों को ये गोलियां मारी हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
MP ats chief sanjeev shami says SIMI Men Were Unarmed When Shot.
Please Wait while comments are loading...