मध्य प्रदेश सरकार छात्रों को बांट रही 'जाति लिखे' बैग, हंगामा

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मध्य प्रदेश। मध्य प्रदेश के मंदसौर में दलित और आदिवासी वर्ग के छात्रों को बांटे जा रहे कॉलेज बैग पर 'SC/ST स्कीम' प्रिंट है। इस तरह बैग पर जाति के जिक्र ने प्रदेश की राजनीति में हलचल पैदा कर दी है।

bag

मध्य प्रदेश के मंदसौर में राजीव गांधी स्नाकोत्तर विद्यालय में दलित और आदिवासी वर्ग के छात्रों को राज्य सरकार की ओर से चलाई जा रही एक योजना के तहत बैग, कैलकुलेटर, पैन और नोटबुक दी जा रही हैं।

विद्यालय के 600 एससी और एसटी छात्रों में से 250 को ये बैग बांटे जा चुके हैं। इन बैग पर साफतौर पर एससी/एसटी छपा है। जिसको लेकर विवाद हो गया है कि आखिर इस तरह से छात्रों के बैग पर जाति का लेवल क्यों चस्पा कर दिया गया है।

दलित होने की सजा, दो साल तक हर रोज होती थी पिटाई, चेहरे पर थूकते थे लड़के

कॉलेज के प्रिंसपल का इस बारे में कहना है कि वो ये कोशिश करते हैं कि बैग पर प्रिंट शब्दों को मिटा दिया जाए। उन्होंने कहा कि अगर किसी को ये पसंद नहीं तो वो इसे मिटा सकता है।

कांग्रेस ने कहा, ये भाजपा की दलित विरोधी मानसिकता का नमूना

प्रिसिंपल का कहना है कि अगस्त से बैग बांटे जा रहे हैं जबकि उन्होंने हाल ही में चार्ज लिया है। उनका कहना है कि वो तो सिर्फ बांट रहे हैं बैग तो सप्लायर पहुंचाता है।

भोपाल: शौर्य स्मारक में सैनिकों को लेकर PM मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें

दूसरी ओर राज्य में विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने इसे भाजपा की घटिया सोच बताया है। मंदसौर की पूर्व कांग्रेस सांसद मीनाक्षी नटराजन ने कहा कि इस तरह की हरकतों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और वो इसको लेकर विरोध प्रदर्शन करेंगी।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अरूण यादव ने एक के बाद एक ट्वीट कर इसे भाजपा और आरएसएस की दलित-आदिवासी विरोधी मानसिकता का नमूना बताया है।

 

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Madhya Pradesh college free bags come with caste baggage
Please Wait while comments are loading...