शहीद रमाशंकर की बेटी ने शिवराज सरकार को दिया जवाब, कह दिया ना

Subscribe to Oneindia Hindi

भोपाल। बीते दिनों मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित केंद्रीय जेल में भागने वाले आतंकियों ने जिन हेड कांस्टेबल वार्डर रमाशंकर यादव की हत्या की थी, उनकी बेटी ने जेल की नौकरी करने से साफ मना कर दिया है।

शहीद रमाशंकर यादव की बेटी ने जेल गार्ड की नौकरी के लिए मना कर दिया है।

रमाशंकर की 24 वर्षीय बेटी सोनिया यादव ने कहा है कि मैं जेल गार्ड के पद से ज्यादा योग्य हूं। बकौल सोनिया, सरकार अगर मुझे अच्छी नौकरी देगी तो ही मैं उसे स्वीकार करूंगी।

bhopal

गौरतलब है कि सोनिया ने पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि वो राज्य की किसी जेल में काम नहीं करेंगी।

हेड कांस्टेबल रमाशंकर की बेटी का खुलासा, पिता ने मुझे बताई थी जेल की पोल

सोनिया ने कहा था...

सोनिया ने कहा था कि मेरे पिता की हत्या के बाद अगर मुझे नौकरी मिलेगी तो मैं कहीं भी काम करने को तैयार हूं लेकिन मध्य प्रदेश की किसी जेल में काम नहीं करुंगी।

भोपाल एनकाउंटर का वीडियो वायरल, अधिकारी बोला- सब निपटा दो

गौरतलब है कि प्रतिबंधित संगठन स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) के 8 आतंकी बीते महीने केन्द्रीय जेल से भाग निकलने में कामयाब हो गए थे।

इस दौरान उन्होंने रमाशंकर यादव की हत्या कर दी थी। हालांकि बाद में सभी एनकाउंटर में मारे गए थे, जिस पर कई सवाल किए जा रहे हैं।

न्यायिक जांच के आदेश

राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मामले की न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं।

सिमी आतंकी की मां बोली- गाड़ी में भरकर ले गई थी पुलिस, बेदर्दी से मार दी सबको गोली

हालांकि पहले इस मामले में एनआईए जांच की बात कही गई थी लेकिन बाद में सरकार इससे पीछे हट गई। आतंकियों के भागने और उनके एनकाउंटर मामले की जांच अब हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एसके पांडे करेंगे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Daughter of security guard Ramashankar Yadav who was killed during Bhopal Prison Break refuses a jail guard job offer.
Please Wait while comments are loading...