पुलिस महकमे में करप्शन के खिलाफ सब इंस्पेक्टर ने छेड़ी जंग

Subscribe to Oneindia Hindi

टीकमगढ़। मध्य प्रदेश में टीकमगढ़ जिले के पुलिस थाना निवाडी में सब इंस्पेक्टर के पद पर अमित साहू ने निलंबित होने के बाद महकमे के अधिकारियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं। करीब 15 दिन पहले निवाडी थाने में सब इंस्पेक्टर के पद पर तैनाती के बाद अमित साहू ने आते ही शराब, सट्टा और रेत माफियाओं के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई शुरू कर दी और उस पर लगाम लगाने की कोशिश की, लेकिन 25 जुलाई को एसपी ने उन्हें निलंबित कर दिया।

Read Also: PICs: बनारस के इस थाने में इंचार्ज अपनी कुर्सी पर ही नहीं बैठते, जाने क्यों?

पुलिस महकमे में करप्शन के खिलाफ सब इंस्पेक्टर ने छेड़ी जंग

निलम्बन के बाद अमित साहू ने अपनी ईमानदारी का परिचय देते हुये एसपी टीकमगढ़ कुमार प्रतीक को एक पत्र लिखा और प्रमाण के साथ टीआई पर शराब, सट्टा और रेत माफियाओं से लाखो रुपये कमाने का आरोप लगाया। इतना ही नहीं रेत माफिया के लेनदेन का वीडियो भी इस सब इंसपेक्टर ने वायरल किया। इस सारे मामले पर एसपी कुमार प्रतीक का कहना है कि सब इंसपेक्टर द्वारा लगाये आरोपों की जांच की जा रही है और अगर मामले मे टीआई की संलिप्तता पाई जाती है तो कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

सब इंस्पेक्टर अमित साहू का कहना है कि अधिकारियों के भ्रष्टाचार के चक्रव्यूह मे फंसकर वो सस्पेंड हो गए। उनका कहना है कि अगर ईमानदारी की सजा निलंबन है तो वो इसे भोगने को तैयार हैं। उनका कहना है कि थाने से भ्रष्टाचार को मुक्त करके ही चैन की सांस लूगा चाहे मुझे इसके लिये कोर्ट का दरवाजा ही क्यों न खटखटाना पड़े।

Read Also: VIDEO: यूपी पुलिस का 'दम मारो दम, मिट जाए गम...'

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A police sub inspector war against corruption in police.
Please Wait while comments are loading...