UP में कैसे बटे सैलरी, 10 हजार करोड़ की जगह सिर्फ 650 रुपए

उत्तर प्रदेश में भी सैलरी बांटना बना बड़ी चुनौती, 10 हजार करोड़ रुपए की जरूरत मगर उपलब्ध सिर्फ 650 करोड़ रुपए। हेलीकॉप्टर से यूपी में भेजा जा रहा है पैसा।

Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। नोटबंदी के फैसले के बाद आज पहली बार देशभर में कर्मचारियों को सैलरी बांटने का दिन है, ऐसे में केंद्र और राज्य सरकार के सामने अपने कर्मचारियों को सैलरी देना बड़ा चुनौती साबित हो रहा है। अकेले उत्तर प्रदेश में सैलरी बांटने के लिए 10 हजार करोड़ रुपए की जरूरत है।

हेलीकॉप्टर से पहुंचाया जा रहा है पैसा

उत्तर प्रदेश में कर्मचारियों को सैलरी देने के लिए कुल 10 हजार करोड़ रुपए की दरकार है लेकिन रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने सिर्फ 650 करोड़ रुपए ही प्रदेश को भेजा है। यूपी में पैसा पहुंचाने के लिए हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल किया जा रहा है।

9350 करोड़ की किल्लत

लखनऊ और कानपुर में पैसा पहुंचाने के लिए नासिक से हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल किया जा रहा है। लेकिन यूपी में जिस तरह से कुल 10 हजार करोड़ रुपए की जरूरत है और आरबीआई ने सिर्फ 650 करोड़ रुपए भेजे हैं ऐसे में प्रदेश में अभी भी 9350 करोड़ रुपए की जरूरत है।

बैंक कर्मचारियों से अपील

आरबीआई ने यूपी मे अपने क्षेत्रीय कार्यालय में ढाई सौ करोड़ रुपए भेजे हैं, जिसे हर करेंसी चेस्ट में 10-10 करोड़ रुपए भेजे जाएंगे। इसके साथ ही आरबीआई ने बैंक के कर्मचारियों से निवेदन किया है कि अगर जरूरत ना हो तो पैसा नहीं निकाल, आवश्यकता के अनुसार ही बैंक से पैसे निकालें। बैंक कर्मचारियों से यह भी गुजारिश की गई है कि वह हफ्ते की अधिकतम निकासी राशि 24 हजार रुपए ना निकालें।

15 गुना कैश की कमी

उत्तर प्रदेश में राज्य के कुल 21 लाख कर्मचारी हैं, हर साल प्रदेश के कर्मचारियों को 7 हजार करोड़ रुपए बतौर वेतन बांटा जाता है, जबकि केंद्र सरकार के राज्य में कार्यरत कर्मचारियों को 3 हजार करोड़ रुपए देना है। ऐसे में जरूरत से 15 गुना कम की राशि से कर्मचारियों को वेतन देना बड़ी चुनौती है।

खुले पैसों की दिक्कतों से मिल सकती है निजात

2000 रुपए के नोट के चलते लोगों को खुले पैसे की काफी दिक्कत हो रही है, इससे निपटने के लिए 500 रुपए के नोटों की खेंप को बड़ी संख्या में बढ़ाने की कवायद तेज कर दी गई है, इसके लिए एटीएम में 500 और 2000 रुपए के नोट की उपलब्धता को अधिक बढ़ाया जाएगा।

50 के नोटों की खपत बढ़ेगी

खुले पैसों की दिक्कत से निजात दिलाने के लिए 50 रुपए के नोट की भी सप्लाइ को बढ़ाया जा रहा है। इसके लिए नए 50 रुपए के नोटों को छापने का काम शुरु हो गया है, जोकि जल्द ही लोगों के बीच उपलब्ध होंगे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Salary distribution is big task for UP ahead of Demonetisation. There is demand of 10 thousand crore but only 650 crore rupees is available.
Please Wait while comments are loading...