यूपी के बड़े हॉस्‍पिटल में 10 हजार रुपए में होता था लिंग परीक्षण, अल्‍ट्रासाउंड सेंटर सीज

Subscribe to Oneindia Hindi

बुलंदशहर। जिस देश में प्रधानमंत्री से लेकर राज्य सरकार बेटी बचाओं को बचाने के लिए करोड़ों रूपयों का बजट मात्र इसके प्रचार और प्रसार में खर्च कर रही हो, वहीं इस देश में भगवान कहे जाने वाला डाक्टर बेटियों को ही कोख में मार रहे है। इस बात का खुलासा हरियाणा के सोनीपत से आई डाक्टरों की टीम ने अल्ट्रा साउंड केन्द्र पर छापा मारकर किया। बुलंदशहर कोतवाली देहात क्षेत्र के भूड़ रोड स्थित शोभाराम अस्पताल में अल्ट्रासाउंड सेंटर पर दलालों के जरिये भ्रूण के लिंग परीक्षण होते है।
जेल में बंद कैदी ने महिला जज को चिट्ठी लिखकर दी बम से उड़ाने की धमकी 

Raid in Ultrasound Center in Buland Shahar

इसकी जानकारी हरियाणा के स्वास्थ्य विभाग की टीम को हुई थी। हरियाण के सोनीपत की डाक्टर अर्पिता कौशिक की एक टीम ने नकली महिला मरीज का दलालों के जरिये शोभाराम अल्ट्रासाउंड सेंटर में परीक्षण कराया। दलालों ने इस बाबत 10 हजार रूपये की वसूली की। भ्रूण का लिंग परीक्षण होने के बाद दलालों को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया। नकली मरीज ने बताया कि सोनीपत से लिंग परिक्षण करने आयी थी, लेकिन पता चला कि मेरठ में लिंग परिक्षण नही हो रहा।

बताया कि दलाल के साथ हापुड़ आई, फिर बुलंदशहर के शोभाराम अल्ट्रासाउंड सेंटर लेकर आया। यहां पर मेरा अल्ट्रासाउंड हुआ और डाक्टर ने मुझे बताया कि मेरे गृभ में लड़की है। मरीज ने बताया कि दलाल महेश को हापुड में मेने 10 हजार रूपए दिए थे। अरेस्ट किए गए दलाल महेश ने पुलिस को बताया कि लिंग परीक्षण के लिए 10 हजार रूपये लिये जाते थे और जिसमें से 7 हजार रूपये कमीशन के होते थे। पुलिस ने नकली मरीज के हाथों दलालों को अदा किये गये 10 हजार रूपये के नोटो में से 8 हजार के नोट बरामद कर लिये है। साथ ही शोभाराम अल्ट्रासाउंड सेंटर को जांच के बाद सील कर दिया गया है। टीम ने सेंटर में संचालित एक मशीन को भी सीज किया है।

18 अप्रैल को भी सीज हुआ था शोभाराम

18 अप्रैल 2015 को भी जहांगीराबाद निवासी ममता का भी शोभाराम अल्ट्रासाउंड सेंटर पर अल्ट्रासाउंड किया गया था। महिला के पति नेे डाक्टर के उकसावे में आकर अपनी पत्नी का अबॉर्शन करवा दिया था। लेकिन बाद में पता चला कि भ्रूण लड़की का नही बल्कि लडके का है। उस समय भी सीएमओ डा. दीपक ओहरी ने अल्ट्रासाउंड सेंटर के खिलाफ पीएनडीटी एक्ट के तहत कार्रवाई की थी और अल्ट्रासाउंड मशीन को सील कर दिया गया था, लेकिन उसके बाद भी सेंटर चालू हो गया।

क्या कहते है अधिकारी

सिटी मजिस्ट्रेट राम गोपाल ने बताया कि हरियाण से एक टीम बुलंदशहर पहुंची और डीएम से मिली। डीएम के आदेश के बाद शोभाराम अल्ट्रासाउंड सेंटर पर छापा मारा गया। सिटी मजिस्ट्रेट ने कहा कि जांच की कार्रवाई हरियाण से आई टीम द्वारा पूरी की गयी है। जांच के बाद डाक्टरों की टीम ने एक रिपोर्ट भी उन्हें दी है। बताया कि हरियाण की टीम के साथ आई एक डमी महिला आई थी उसने बताया कि डाक्टर ने उसका लिंग परिक्षण किया है, लेकिन डाक्टरों द्वारा लिंग परिक्षण करने से इंकार किया गया है।

डमी को किया था तैयार

हरियाण से आई डा. अर्पित कौशिक ने बताया कि अल्ट्रासाउंड से लिंग की जांच करने के लिए एक डमी तैयार की हुई थी। जो हम अंदाजा था कि अल्ट्रासाउंड मेरठ में होगा, लेकिन आज सुबह केस को फोलो करते-करते मेरठ से हापुड लाया गया और हापुड से बुलंदशहर शोभाराम अल्ट्रासाउंड सेंटर लाया गया। जब केस बाहर निकला तो दलाल को हमने पकड लिया और 10 हजार के नम्बर नोट करके 2 हजार के 5 नोट दिए थे जिसमें से 8 हजार रूपए बरामद किए गए है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Raid in Ultrasound Center in Bulandshahar.
Please Wait while comments are loading...