मायावती बोलीं अगर काम किया होता तो बोलता, रथयात्रा ने दिवाला निकाला

Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। अखिलेश यादव के विकास रथ पर खर्च किए गए करोड़ों रुपए पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि जब हमने महापुरुषों के नाम पर स्मारक बनवाए तो इन लोगों ने उसे फिजूल खर्च बताया था, लेकिन अब यही लोग विकास रथ के नाम पर करोड़ों खर्च कर रहे हैं।

mayawati

अखिलेश के बिना कोई भी मुलायम के साथ आने को तैयार नहीं

मायावती ने अखिलेश की रथयात्रा को दिवालिया रथयात्रा करार दिया है। उन्होंने कहा कि अखिलेश की इस लग्जरी रथयात्रा ने दिवाला निकाल दिया है।

महापुरुषों का किया था अपमान

मायावती ने कहा कि सपा ने स्मारकों को फिजूलखर्च बताकर महापुरुषों व गुरुओं का अपमान किया था। उन्होंने कहा कि अगर सपा सरकार ने विकास किया होता तो विकास यात्रा की जरूरत नहीं होती। 

मुलायम सिंह के फोन करने के बाद नीतीश कुमार भी हुए राजी

काम किया होता तो बोलता
अखिलेश यादव पर तीखा हमला बोलते हुए मायावती ने कहा कि अगर काम किया होता तो शान-शौकत के साथ विकास रथयात्रा नहीं निकालनी पड़ती। उन्होंने कहा कि सरकार का काम अपने आप अवश्य ही बोलता है।

मायावती ने कहा कि सपा सरकार ने जनहित के काम नहीं किए और अब जनहित के नाम पर रथयात्रा निकाल रहे हैं। उन्होंने का कि यह रथयात्रा सिर्फ हुंडदगबाजों की रथ यात्रा थी।

सड़क पर थे हुड़दंगबाज

अखिलेश की रथ यात्रा पर मायावती ने कहा कि सपा की रथयात्रा में हुड़दंगबाजों ने खूब मारपीट की, रथयात्रा के दौरान रास्ते में लूटते-खसोटते रहे सपा के हुड़दंगबाज।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mayawati takes on Akhilesh Yadav Vikas Rathyatra calls it waste of money. She says had the work done it must make noise.
Please Wait while comments are loading...