शिवपाल को अखिलेश का जवाब, अपनी मेहनत से यहां पहुंचे हैं

Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। सपा के रजत जयंती कार्यक्रम में एक तरफ अखिलेश यादव और शिवपाल यादव आपस में बात करते हुए दिखे, अखिलेश यादव ने चाचा के पैर छुए, लेकिन जब दोनों ने मंच पर माइक संभाला तो तल्खी साफ देखने को मिली। एक तरफ जहां शिवपाल यादव ने पहले मंच पर कहा कि वह अपना सबकुछ देने को तैयार हैं तो अखिलेश ने कहा कि यहां किसी को परीक्षा देने की कोई जरूरत नहीं है। 

akhilesh yadav

सपा के कार्यक्रम में मंच पर चाचा-भतीजे ने लहराई तलवार

अखिलेश यादव के भाषण के मुख्य अंश

  • हमने मेहनत की है, तभी हम आज इस मुकाम पर पहुंचे हैं। 
  • प्रजापति साथी से कहना चाहूंगा कि मेरे हाथ में तलवार देते हो तो कहते हैं कि तलवार ना चलाओ, ऐसा कैसे हो सकता है।
  • मैं हर तरह की परीक्षा देने को तैयार हूं, किसी और को परीक्षा देने की जरूरत नहीं है। 
  • लोहिया जी कहते थे कि लोग सुनेंगे जरूर लेकिन मेरे मर जाने के बाद, मैं कहना चाहुंगा कि लोग सुनेंगे जरूर लेकिन समाजवादी पार्टी का सबकुछ बिगड़ा जाने के बाद
  • समाजवादी पार्टी बहुत आगे आ गई है, इसे और आगे कैसे ले जाया जाए इस बारे में सोचना होगा। 
  • हम लोगों ने जो लैपटॉप बांटा है वह आज जब चालू किया जाता है तो नेताजी की तस्वीर आती है, आज भी विरोधी लोग उस तस्वीर को हटा नहीं पाए हैं। 
  • हम अंग्रेजी के खिलाफ हैं लेकिन किस रूप में हैं, हम हिंदी को किस स्वरूप में चाहते हैं इसे हम लोगों को समझाना चाहता हैं। 
  • ये वो ताकतें सत्ता में बैठ गई हैं जिन्होंने लोगों के बीच फासले बढ़ा रही है। भारतीय जनता पार्टी लोगों को दूर करने का काम कर रही है। 
  • हमने 55 लाख गरीब महिलाओं को समाजवादी पेंशन देकर मदद की है। यह पेंशन बिना जात-पात और भेद-भाव के बांटी गई है। 
  • नेताजी और उनके तमाम साथियों को इस बात की मुबारकबाद देना चाहता हूं कि आपने शानदार समाजवादी पार्टी बनाने का काम किया है।
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Akhilesh Yadav takes on Shivpal Yadav says we have work hard to reach here. He says this is not the time to answer many question.
Please Wait while comments are loading...