देखिए दिल को छू जाने वाली तस्‍वीरें, सिटी ऑफ ज्‍वॉय में जब महिलाओं ने 'सिंदूर खेला'

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

कोलकाता। देश भर में महानवमी धूमधाम से मनाई गई। इस दौरान देश भर में अलग-अलग जगहों पर पूरे उत्‍साह के साथ दुर्गा पूजा का आयोजन किया गया। पर जब बात आती है सिटी ऑफ ज्‍वॉय की, तो कोलकाता अपने आप ही आंखों के सामने बसता जाता है। यहां खुशियां होती है, खुशियों में रंग होते हैं, रंगों में उत्‍साह होता है और उन रंगों में सबका प्‍यार मिला होता है।

sindoor khela

इन्‍हीं पलों को जीने के लिए देश भर के लिए कई लोग कोलकता पहुंचते हैं और जमकर इन पलों को जीते हैं।

sindoor khela

बंगाल में दो महीने पहले से दुर्गा पूजा की तैयारियां शुरू हो जाती हैं। कोलकाता के एक छोर से दूसरे छोर तक दुर्गा पूजा का रंग हवाओं में बह रहा होता है।

रूस ने चला ऐसा दांव, भागने लगे कच्‍चे तेल के दाम, भारत में भी महंगा हो सकता है पेट्रोल-डीजल

sindoor khela

उत्तरी कोलकाता से दक्षिण कोलकाता के हर छोर तक ऐसा ही नजारा देखने को मिलता है। नाकतला से बेहाला, बाग बाजार, श्याम बाजार हर जगह पंडाल सजे होते हैं। लाखों की संख्‍या में लोग यहां पूजा अर्चना करने आते हैं।

sindoor khela

कोलकाता में सिंदूर खेला की भी परंपरा है। विजयादशमी के दिन काली मंदिर में महिलाओं का 'सिंदूर खेला' है जिसकी भव्‍यता देखते ही बनती है।

पाकिस्‍तान से बलूचिस्‍तान को एक दिन में आजाद करा लेंगे: नाएला बलोच

sindoor khela

इस सिंदूर खेला को देखते हुए लगता है कि कैसे महिलाओं के सारे दुखों को इस सिंदूर खेला ने उनसे छीन लिया है और उनको इतनी खुशियां दी है तो सच में उनके हिस्‍से की होती है। इसे देखने लोग आसपास के राज्यों से भी आते हैं।

sindoor khela

शादीशुदा औरतें लाल साड़ी पहनकर माथे में सिंदूर लगाकर पंडालों में पहुंचती है और मां को उलू ध्वनी के साथ विदा देती हैं। एक दूसरे को गुलाल लगाती हैं और सिंदूर खेला खेलती हैं।

एयरटेल का धांसू ऑफर, महज 17 रुपए में 1 जीबी डेटा, पर है एक शर्त

sindoor khela

यहां यह भी परपंरा है कि इस दौरान महिला श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ने पर पुरुषों के प्रवेश पर रोक लगा दी जाती है।

sindoor khela
देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Sindoor khela bagbazar in pictures
Please Wait while comments are loading...