राज्यपाल पर भड़कीं ममता बनर्जी, कहा- केंद्र सरकार की भाषा बोल रहे हैं

टोल नाकों पर सेना की तैनाती के मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार से नाराज पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल पर निशाना साधा है।

Subscribe to Oneindia Hindi

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि राज्यपाल केंद्र सरकार की भाषा बोल रहे हैं।

mamata

राज्यपाल के रवैये पर ममता बनर्जी ने उठाए सवाल

पश्चिम बंगाल में टोल नाकों पर सेना की तैनाती के मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार से नाराज पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के राज्यपाल केंद्र सरकार की भाषा बोल रहे हैं।

ममता बोली, अगर बंगाल से सेना नहीं हटाई गई तो हम कानूनी लड़ाई लड़ेंगे

ममता बनर्जी ने राज्यपाल को सलाह देते हुए कहा कि उन्हें बयान देने से पहले सभी जानकारी की जांच कर लेनी चाहिए। बता दें कि पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ने ममता बनर्जी से कहा था कि हमें सेना के खिलाफ कुछ भी कहने से बचना चाहिए।

राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी के इसी बयान से नाराज होकर ममता बनर्जी ने उन पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि राज्यपाल केंद्र सरकार की भाषा बोल रहे हैं। उन्हें तथ्यों की जांच कर लेनी चाहिए।

सेना के खिलाफ बोलने से बचना चाहिए: केशरी नाथ त्रिपाठी

राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी ने कहा था कि सभी लोगों को सेना के खिलाफ कोई भी आरोप लगाने से बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें सेना को नीचा दिखाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए।

पीएम नरेंद्र मोदी ने दी वॉर्निंग, सेना पर उंगली उठाना बंद करें

बता दें कि तृणमूल कांग्रेस के विधायकों और मंत्रियों ने राजभवन के बाहर धरना दिया। उनका आरोप था कि केंद्र सरकार भारतीय सेना का इस्तेमाल राजनीतिक प्रतिशोध के लिए कर रही है।

पश्चिम बंगाल के टोल नाकों में सेना की तैनाती हटाने की मांग को लेकर टीएमसी नेताओं ने राजभवन के सामने प्रदर्शन किया। बता दें कि सेना ने कहा कि ये सैन्य अभ्यास कोलकाता पुलिस के साथ बातचीत करके कराए जा रहे हैं। ये एक रूटिन एक्सरसाईज है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
WB CM Mamata Banerjee says Governor is speaking in voice of Central Government.
Please Wait while comments are loading...