मदरसे में रोकने के लिए 11 साल के बेटे को जंजीर से बांधा, केस दर्ज

मदरसे में रोकने के लिए माता-पिता पर अपने ही 11 साल के बेटे को जंजीरों में जकड़ कर रखने के आरोप लगे हैं। जम्मू के इस मामले में आरोपी माता-पिता के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किया है।

Subscribe to Oneindia Hindi

जम्मू। बेहद चौंकाने वाले मामले में एक माता-पिता पर अपने ही 11 साल के बेटे को जंजीरों में जकड़ कर रखने के आरोप लगे हैं। माता-पिता का कहना है कि उन्होंने बच्चे को मदरसे में रोकने के लिए ये कदम उठाया। हालांकि पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।

chain, janjeer

बेटे के जंजीर से बांधने की तस्वीर हुई वायरल

पूरा घटनाक्रम जम्मू शहर के बाहरी इलाके में मौजूद भटींडी मदरसे का है। पुलिस के मुताबिक आरोपी माता-पिता म्यांमार के शरणार्थी हैं। इन्होंने 11 साल के अपने बच्चे को मदरसे में रोकने के लिए चेन से बांध दिया।

भाजपा सांसद ने अयोध्या में रामायण म्युजियम को लॉलीपॉप बताया

उनका कहना है कि बच्चा मदरसे भाग जाता है ऐसे में वह मदरसे में रुके इसलिए जंजीरों से बांध कर रोकने की कोशिश की गई।

इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक इस पूरे मामले का खुलासा वहां रहने वाले एक शख्स ने कर दिया। जिसने उस बच्चे की तस्वीर खींच ली और सोशल मीडिया में पोस्ट कर दिया।

मदरसे में बच्चे को रोकने के लिए माता-पिता ने उठाया कदम

जैसे ही ये तस्वीर वायरल हुई मामले पुलिस में पहुंच गया। जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी माता-पिता पर केस दर्ज कर लिया।

दिखा मुहिम का असर, चीनी सामान की खरीद में बड़ी गिरावट!

पुलिस के मुताबिक बच्चे के माता-पिता और मदरसे के मौलवी अब्दुल गफूर ने बताया कि लड़का दो बार मदरसे से भाग चुका है। उसके भागने से परेशान मां ने ही जंजीर से बांधने की योजना बनाई। वही जंजीर भी लेकर आई।

हालांकि स्थानीय निवासी ने जंजीरों में जकड़े बच्चे की तस्वीर खींचकर सोशल मीडिया में डालने की वजह से मामले का खुलासा हो गया। पहले तो पुलिस ने बच्चे को अपने पास रखा। बाद में जंजीर लेकर बच्चे को उसके माता-पिता को लौटा दिया गया।

ब्रिक्स मीडिया फोरम में बोली सुषमा स्वराज, आतंकवाद वैश्विक चुनौती

बांग्लादेश से तीन साल पहले भारत आया ये परिवार

नरवाल-जम्मू के सब डिविजनल पुलिस अधिकारी चंदन कोहली ने बताया कि बच्चे के माता को फिलहाल चेतावनी दी गई है। उनके खिलाफ पुलिस एक्ट की धार 36 के तहत केस दर्ज भी किया गया है।

मानहानि केस में उमा भारती पर 100 रुपये का जुर्माना, मिली जमानत

बच्चे के परिजनों के मुताबिक वो लोग चार साल पहले बांग्लादेश से भारत में आए थे। वह जम्मू के नरवाल इलाके में तीन साल से रह रहे हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Jammu: putting chains on the feet 11 year old son, police booked parents.
Please Wait while comments are loading...